बस में मिली भाभी को पटाकर सेक्स किया: भाभी सेक्स प्ले स्टोरी

बस में मिली भाभी को पटाकर सेक्स किया: भाभी सेक्स प्ले स्टोरी

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “बस में मिली भाभी को पटाकर सेक्स किया: भाभी सेक्स प्ले स्टोरी”। यह कहानी पारस की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

भाभी सेक्स प्ले स्टोरी… यही तो है यह कहानी! पढ़ें कि कैसे मैंने एक खूबसूरत भाभी से दोस्ती की, उसे रिझाया, उसे सेक्स के लिए मनाया, फिर उसके शरीर के साथ खेला।

नमस्कार दोस्तों,
मेरा नाम पारस है. मैं रायपुर का रहने वाला हूं और पिछले कुछ सालों से इंदौर में पढ़ाई कर रहा हूं।

मैं 23 साल का नवयुवक हूँ. मेरे लंड का साइज़ 7 इंच है.

मैं सेक्स की भूखी महिलाओं को बहुत आसानी से खुश कर सकता हूँ। ये बात मुझे कुछ महीने पहले ही पता चली जब मैंने जिंदगी में पहली बार किसी भाभी को रात भर चोदा. (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

आज जो खूबसूरत भाभी के साथ सेक्स का खेल मैं आपको बताने जा रहा हूँ वो बिल्कुल सच है.

ये घटना इसी साल की है. दरअसल, मैं शुरू से ही प्लेबॉय बनना चाहता था।
लेकिन बहुत कोशिश करने के बाद भी, मुझे ऑनलाइन साइटों पर केवल धोखाधड़ी ही मिली और इसलिए मैंने अपना सारा पैसा खो दिया।

और फिर जब मैंने उम्मीद छोड़ दी तो मेरी मुलाकात एक खूबसूरत भाभी से हुई जो परी जैसी दिखती थी।
उसकी खूबसूरती के बारे में क्या कहूँ… एकदम लाजवाब फिगर 34-28-36। अब आप समझ गए होंगे कि मैं ऐसे नहीं बोल रहा हूं.

दरअसल जब मैं कॉलेज जा रहा था तो सिटी बस से अपने ऑफिस जाते समय मेरी उससे मुलाकात हुई।

मैंने उसे पहले कभी नहीं देखा था क्योंकि उस समय मेरी इंटर्नशिप शुरू हो गई थी और मेरे कॉलेज का समय बदल गया था।
इसी वजह से मैंने 8:30 की बजाय 9:30 की बस से सफर करना शुरू कर दिया.

शुरुआत में कुछ खास नहीं था. उन्हें देखने मात्र से मेरा दिन बन जाता था। उनका ऑफिस हाई कोर्ट के पास था और मेरे कॉलेज का रास्ता भी वहीं से होकर गुजरता था.

तो अब ये रोज की बात हो गई कि मैं और वो एक ही बस में सफर करते थे. एक दिन मैंने हिम्मत करके उससे पूछा- क्या तुम हाई कोर्ट में काम करती हो? (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

तो उसने कहा कि वो पास के एक प्राइवेट ऑफिस में काम करती है.

फिर उन्होंने मेरे बारे में पूछा और मैंने उन्हें बताया कि मैं लास्ट ईयर का छात्र हूं और मेरी इंटर्नशिप शुरू हो गई है। इसे पूरा होने में अभी 6 महीने बाकी हैं.

और इस तरह धीरे-धीरे हमारी बातें होने लगीं.
बातों-बातों में उसने बताया कि उसका नाम Damini है. अब हम रोज बस में ऐसे ही बात करते थे.

एक दिन मुझे पता चला कि वो शादीशुदा है और उसका पति सैमसंग में काम करता है और एक साल के लिए ऑफिस के काम से बाहर गया है.

लेकिन उनका परिवार यहीं इंदौर में रहता है, इसलिए उन्हें यहीं रहकर उनकी देखभाल करनी पड़ती है। उन्होंने बताया कि उनकी शादी को 3 साल हो गए हैं और उनके घर में उनकी मां, पिता और दादी हैं.

इसी तरह धीरे-धीरे हमने एक-दूसरे के मोबाइल नंबर ले लिए और फोन पर बातें करने लगे।

फिर एक दिन मैंने उससे कहा कि मैंने हॉस्टल में 4 साल बिताए हैं और मैं यहाँ किसी भी जगह पर ठीक से नहीं घूम पाया हूँ, तो क्या तुम मुझे कहीं ले जा सकती हो?

तो वो मुस्कुराई और बोली- देखूंगी. अभी कुछ नहीं कह सकती! इतना कहने के बाद बातचीत ख़त्म हो गई.
फिर 2-3 बार और पूछने पर उसने हाँ कर दी और कहा कि हम अगले शनिवार को चलेंगे।

फिर जब शनिवार आया तो मैं तैयार होकर निकल ही रहा था कि तभी मुझे फोन आया और मुझसे एक जोड़ी कपड़े और अपने पास रखने को कहा.

मुझे समझ नहीं आया कि उसने ऐसा क्यों कहा और मैं अपने कपड़े रख कर उसके पास चला गया.

फिर हम साथ में घूमने निकले. वह मुझे एक ही दिन में लगभग 4 अलग-अलग जगहों पर ले गयी और लगभग 3 बजे हम एक घाट पर पहुँचे जहाँ उसने कहा- हम थोड़ा तरोताजा होने के लिए यहाँ स्नान करेंगे।

तो मैंने अपने कपड़े उतार दिए और तुरंत शॉर्ट्स में आ गया और वो भी शॉर्ट्स और टी-शर्ट में आ गई. हम दोनों 1 घंटे तक साथ में पानी में नहाते रहे. (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

तभी ऐसा लगा कि नदी में पानी बढ़ रहा है।
तो उसने कहा- मुझे तैरना नहीं आता. मुझे खींचो!

मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी ओर खींचने लगा.

लेकिन ज्यादा जोर से खींचने के कारण वो पूरी तरह से मेरे ऊपर गिर गयी और उसे गिरने से बचाने के लिए मैंने उसकी कमर पकड़ ली. हम दोनों पहली बार इतने करीब आये थे.

कुछ देर बाद जब हमें एहसास हुआ तो हम दोनों पानी से बाहर आये और चेंजिंग रूम में कपड़े बदलने चले गये.

चेंज करने के बाद गीले कपड़ों को एक पॉलिथीन में रखकर हम वापस आ गये.

वह कुछ भी बात नहीं कर रही थी.
तो मुझे डर था कि कहीं मैंने कुछ गलत तो नहीं कर दिया.

लेकिन कुछ देर बाद वह थोड़ी सामान्य हो गईं और बात करने लगीं.
फिर मैंने थोड़ा आराम किया.

फिर हम अपने-अपने घर चले गये और दिन ख़त्म हो गया।

अगले दिन यानी सोमवार को जब मैं उससे मिला तो वह कुछ अलग लग रही थी या मेरा उसे देखने का नजरिया ही बदला हुआ था. शायद हम दोनों का एक दूसरे को देखने का नजरिया बदल गया था.

वह थोड़ी उलझन में लग रही थी क्योंकि वह शादीशुदा थी।

लेकिन मैं बहुत स्पष्ट था कि मैंने उसे वही बताया जो मैं उसके बारे में महसूस करता था।
फिर जब मैं शाम को आया तो उसे याद करके मैंने अपना लंड हिलाया और अपना वीर्य निकाला.

इसके बाद भी मेरी प्यास नहीं बुझी तो अगले ही दिन मैंने उसे फ़ोन पर सब बता दिया कि मैं उसे पसंद करता हूँ और उसके साथ डेट पर जाना चाहता हूँ। (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

ये सुनकर वो थोड़ा गुस्सा हो गईं और फोन काट दिया.
यह सोचकर मेरी हालत खराब हो गई कि कहीं मैंने कुछ गलत तो नहीं कह दिया।

फिर जब मैं अगली सुबह उनसे मिला तो मैंने बात करने की कोशिश की.
इस पर उसने शाम को गार्डन में मिलने की बात कही.
बस इतना ही कहा और वह चली गई।

शाम को जब हम गार्डन में मिले तो उसने बताया कि वह शादीशुदा है और दोस्ती तक ठीक है. लेकिन मैं उनसे इससे ज्यादा कुछ उम्मीद न करू.

लेकिन मैं थोड़ा जिद्दी भी हूं.
मैंने भी उन्हें मनाने की ठान ली थी.

मैंने उससे रिक्वेस्ट की और उसे समझाया- हम सिर्फ दोस्त ही रहेंगे.

लेकिन आपको अपनी जरूरतों का भी ख्याल रखना होगा और मैंने उससे कहा- मेरी वजह से तुम्हारी शादीशुदा जिंदगी में कोई दिक्कत नहीं होगी. जब भी तुम्हारा पति आएगा मैं तुमसे दूरी बना लूंगा.

इस बात पर उन्होंने कहा- मैं सोच कर बताती हूं!
वो बोली और चली गयी.

जब मैं अगली सुबह उनसे मिला तो उन्होंने मुझे गुड मॉर्निंग कहा।
तब मुझे समझ आया कि अब सब कुछ ठीक है.
इसका मतलब था कि मेरा जादू काम कर गया.

और फिर एक दिन मुझे मौका मिल गया जब उसके माता-पिता अपने परिवार में किसी की मृत्यु के कारण बाहर गए थे और वह 2 दिनों के लिए घर पर अकेली रह गई थी।

मम्मी-पापा के जाने की रात हमने फोन पर लंड, चूत और Chut Chudai के बारे में खूब बातें कीं.

इसके बाद उन्होंने मुझसे अगले दिन शाम को घर आने को कहा.

मैं शाम का इंतज़ार करने लगा.
और जैसे ही 5 बजे मैं उसके घर के लिए निकल गया.

उसका घर मेरे घर से सिर्फ 15 मिनट की दूरी पर था, इसलिए मैंने ऑटो लिया और वहां पहुंच गया. जब मैं उसके घर पहुंचा तो उसने मुझे एक सेक्सी स्माइल दी और जल्दी से मुझे अंदर खींच लिया और दरवाजा बंद कर दिया.

मौके का फायदा उठाते हुए मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और उसे बेतहाशा चूमने लगा.
हम एक दूसरे के होंठ चूस रहे थे. (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

मैं उसके Big Boobs को मसल रहा था.. तो वो मेरे लंड को मसल रही थी। ऐसा करने में हमें 5 मिनट लग गए, फिर हम अलग हो गए.

इसके बाद वो मेरे लिए कॉफ़ी बनाने चली गयी. तो मैं भी उसके पीछे गया और उसे पीछे से गले लगा लिया.
मेरे ऐसा करने से थोड़ा सा दूध उनकी साड़ी पर गिर गया और उन्होंने उसे साफ करने के लिए अपना पल्लू उतार दिया.

जब उसने ऐसा किया तो मैंने उसका चेहरा अपनी तरफ किया और चूमना शुरू कर दिया.
आज उसने ब्लाउज नहीं पहना था तो मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके मम्मों को चूसने लगा.

कुछ देर तक ऐसे ही उसके मम्मों को चूसने के बाद उसके मम्मे काफी सख्त हो गए और उसकी सांसें काफी गर्म होने लगीं.
तो मैंने मौके का फायदा उठाते हुए पहले उनकी साड़ी उतार दी और फिर उनका पेटीकोट.

फिर उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी, मेरी पैंट और अंडरवियर नीचे खींच दी, मेरा लंड बाहर निकाला और उसे मसलने लगी।

अब वो सिर्फ़ काली पैंटी और काली ब्रा में थी और मैं पूरा नंगा था। वह बिल्कुल गोरी अप्सरा लग रही थी जो मेरे लंड के लिए तरस रही थी। (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

रस से भरे दो बड़े संतरे जैसे खूबसूरत स्तन… मन कर रहा था कि अभी उसके दोनों स्तन खा जाऊं।

मैं तुरंत उस पर टूट पड़ा और बेतहाशा चूमने और काटने लगा.
उसके मुँह से कामुक आवाजें… आह… आह… आह… उम्म… आ रही थीं जो मुझे पागल कर रही थीं।

मैं अपने लंड से उसके बदन और चूत की गर्मी महसूस कर रहा था.

उसके दोनों हाथ मुझे पीछे से अपनी ओर खींच रहे थे जैसे वो मुझे गले लगाना चाहती हो.

मैं उसके मम्मों और होंठों को चूमते हुए उसकी नाभि तक पहुंच गया.
वह पूरी तरह से पागल हो रही थी, मेरे बाल खींच रही थी।

मैंने झट से उसकी पेटी की तरफ देखा, वो पूरी गीली हो चुकी थी।
उसकी हवस की खुशबू ने मानो मुझे मदहोश कर दिया था.

मैंने उसकी पैंटी उतार दी और एक प्यार भरा चुम्बन दिया।

जैसे ही मैंने ऐसा किया, उसके शरीर में करंट दौड़ गया.
वह पूरी तरह से मदहोश थी.

मैंने बिना देर किये अपना मुँह उसकी Tight Chut पर रख दिया और बड़े आराम और प्यार से चाटने लगा।

उसने अपनी दोनों टांगें खोल दीं और मेरे मुँह को अपनी चूत में दबाने लगी.
वो इतनी गर्म हो गई थी कि कुछ ही देर में आ… आह… आ… करते हुए स्खलित हो गई।
मैंने उसकी पूरी चूत को चाट कर साफ़ कर दिया और उसकी चूत को चूसता रहा।

वो फिर से उत्तेजित हो गई और गिड़गिड़ाने लगी- प्लीज़.. लंड अन्दर डाल दो.. प्लीज़! लेकिन मैं तो चूत चूसने में मस्त था. फिर उसने कहा- मादरचोद… अपना लंड अन्दर डाल… चोद मुझे!

पता नहीं मुझे क्या हुआ… मैंने अपना मोटा लंड एक ही झटके में उसकी चूत में घुसा दिया।

लेकिन शायद वो इसके लिए तैयार नहीं थी, वो दर्द से चिल्ला उठी और बोली- फाड़ दी मेरी चूत! इतना बड़ा तो मेरे पति का भी नहीं है. निकालो गांडू… निकालो… आ… मर गई… आह! (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)
करते-करते रोने लगी.

मैंने उसकी एक न सुनी और उसी पोजीशन में चोदता रहा.
कुछ ही देर में वो मेरा साथ देने लगी और मुझे चूमने लगी.

लेकिन कुछ ही देर में हम दोनों स्खलित हो गये और मेरा लंड सिकुड़ कर बाहर आ गया।
यह देख कर वह बहुत निराश हो गयी.

मुझे भी समझ नहीं आ रहा था कि क्या हुआ.

फिर उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी और मेरा लंड फिर से चुदाई के लिए खड़ा हो गया।
बिल्कुल पहले की तरह चोदने को तैयार.

इस बार मैं उसे सोफ़े पर लाया और लिटा दिया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया।

फिर हमारी चुदाई शुरू हो गई.
वो अपनी Moti Gand उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी.

मैं भी उसे ज़ोर-ज़ोर से चोद रहा था… पूरे हॉल में दोनों की आवाज़ें गूँज रही थीं- आ… आ… उह… याह… उम्म्म्म। उहह… आउउफ़… याह… आआहह… ऊऊ!

ऐसे ही चुदाई करते हुए हमें करीब 15 मिनट हो गये थे.
और एक बार फिर हम दोनों एक साथ ऑर्गेज्म प्राप्त कर चुके थे।

मैं उस पर टूट पड़ा.
वो मुझे चूम रही थी, मैं उसके मम्मों से खेल रहा था.

फिर कुछ देर बाद वो उठी और कॉफ़ी बनाने लगी.
हम दोनों ने कॉफ़ी पी। (भाभी सेक्स प्ले स्टोरी)

और फिर वो बाथरूम में चली गयी.
वो बाथरूम से एक बहुत ही पतली नाइट ड्रेस में निकली, जिसमें से मुझे सब कुछ साफ-साफ दिख रहा था।

फिर वो खाना बनाने चली गयी और मुझसे बोली कि आज रात यहीं रुक जाओ.

उसके बाद हमने क्या किया, वो मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगा.

मेरे प्यारे दोस्तो, आपको मेरी भाभी सेक्स प्ले स्टोरी पढ़कर मजा आया होगा.
आप मुझे बतायें कि आपको भाभी सेक्स प्ले स्टोरी कैसी लगी?

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasy.in” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga