चाची को दल्ली बनाकर ममता की चुदाई कर डाली

चाची को दल्ली बनाकर ममता की चुदाई कर डाली

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम पंकज उदास है और मै लाया हू एक मजेदार स्टोरी, आज मै आपको बताने जा रहा हू की कैसे मैंने अपनी चाची को दल्ली बनाकर ममता की चुदाई कर डाली मै दावे के साथ कह सकता हू इसे पढ़कर आपकी पैंट गीली हो जाएगी तो चलिए शुरू करते है बिना किसी देरी के,

ममता की चुदाई देसी सेक्स कहानियाँ नमस्कार दोस्तों, मैं पंकज उदास एक बार फिर आपके लिए अपनी एक और मस्त कहानी लेकर हाजिर हूँ। मुझे मेरी कहानियों पर बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है. मुझे उम्मीद नहीं थी कि आप सबको मेरी कहानी इतनी पसंद आएगी.

आप सभी के इतने प्यार की वजह से आज मैं आपको एक और नई और मस्त कहानी बताने जा रहा हूँ। मुझे उम्मीद है कि आपको आज भी मेरी ये कहानी पसंद आएगी. तो चलिए बिना किसी देरी के कहानी शुरू करते हैं। जैसा कि मैंने पहले बताया था कि कैसे मैंने अपनी मौसी को छोड़ दिया था. लेकिन कुछ समय के लिए वो दोनों चाचियां अलग हो गईं. बड़ी चाची तो मेरे घर से ज्यादा दूर नहीं थीं लेकिन छोटी चाची थोड़ी दूर थीं. बड़ी चाची एक नंबर की चुदासी थीं.

उस कुतिया को चुदाई से ज्यादा अपनी चूत चटवाना ज्यादा पसंद था. इसलिए उसे लंड की भूख कम ही लगती थी. लेकिन दूसरी तरफ छोटी चाची एक नंबर की चुदासी औरत थीं. उसे अपने लंड के बिना चैन नहीं मिलता था. वो हर हफ्ते 2 या 3 बार मेरा लंड मांगती थी.

और उसके बाद हर रात मैं अपने चाचा के साथ भी सेक्स करती थी. उसने कहा कि अंकल का तो बहुत छोटा है और वो 5 मिनट में ही फ्री हो जाते हैं. इसलिए वो मेरा लंड मांगती है. लेकिन मुझे दोनों चाचियों को फ्री में चोदने में कोई दिक्कत नहीं हुई. मैं जब चाहूँ उन दोनों में से किसी एक को चोद सकता था।

मैंने छोटी चाची को काफी देर तक चोदा. क्योंकि उसकी चूत कमाल की थी. और उसने बहुत अच्छे से चुदाई भी की. एक दिन मैं अपनी बड़ी चाची को चोदने गया क्योंकि उन्होंने मुझे फोन करके बुलाया था. मैं उसके घर गया और उसे चोदने की तैयारी करने लगा. पहले तो उसने हमेशा की तरह 30 मिनट तक मुझसे अपनी चूत अच्छी तरह चटवाई. वैसे आंटी की चूत चाटने में एक अलग ही मजा है. क्योंकि जब जीभ चिकनी चूत को छूती है तो अद्भुत आनन्द आता है।

उसके बाद उसने खुद ही अपनी चूत अच्छे से चटवाई. वो मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में दबा देती थी. और वो अपनी गांड को ऊपर नीचे करके मुझसे अपनी चूत अच्छे से चटवाती थी. दो बार चूत चाटने और पानी निकालने के बाद अब मुझे चूत चोदने का मौका मिला। मैंने जब भी आंटी की चूत चोदी तो मुझे वो बहुत टाइट लगी. क्योंकि वो बहुत कम ही अपनी चूत की चुदाई करवाती थी. इसलिए उसकी चिकनी चूत इतनी कमाल की थी. मैंने अपनी बड़ी चाची की चूत को 2 घंटे तक चोदा.

इन 2 घंटों में मैंने अपने लंड से 2 बार और आंटी की चूत से 3 बार रस छोड़ा. फिर जब मैं और चाची थोड़ा शांत हुए. कुछ देर बाद वो मेरा लंड चूसने लगी. और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. इस बार मैंने चाची का मुंह और गला बंद करके चोदा. और फिर अपने लंड से सारा रस उसके गले में छोड़ दिया. मेरे लंड का सारा रस पीने के बाद आंटी ने मेरे लंड को चाट कर पूरा साफ़ कर दिया. उसके बाद वो मेरी बांहों में आ गयी. कुछ देर आराम करने के बाद चाची ने मुझे अपनी बांहों में लेते हुए कहा.

मेरे राजा, मुझे तेरे लंड के लिए बहुत बढ़िया चूत मिल गयी है. वो तुम्हारे लंड के लिए तरस रही है. और ये बात मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं. अगर आपका लंड उस चूत को देख लेगा तो आपका लंड भी उसके बिना नहीं रह पाएगा. तब क्या हुआ? मैंने अपनी चाची से इसके बारे में पूछा.

आंटी ने मुझे अपने फ़ोन पर एक वीडियो दिखाया जिसमें एक जवान आंटी जिसका नाम ममता था अपनी चूत अच्छे से चटवा रही थी। वो मुझे देखते ही कमाल लग रही थी. उसके स्तन 34 के होंगे और उन्हें देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया। जब मैंने अपनी चाची से उसके बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि वह उसके घर के पास नई-नई आई है।

उसका पति उसे नहीं चोदता और उसकी शादी को अभी 5 साल ही हुए हैं और अभी तक उसका कोई बच्चा भी नहीं है. तभी तो उसकी चूत इतनी तड़प रही है, उसे तुम्हारे जैसा मस्त जवान लड़का और मस्त लम्बा लंड चाहिए. जो तुम्हारे पास है मेरे राजा. फिर क्या, मैंने अपनी चाची से मीटिंग फिक्स करने के लिए कहा।

चाची बोलीं- तुम थोड़ा रुको और एक बार ऐसे ही मिल लो, फिर मैं बात आगे बढ़ाऊंगी. मैंने कहा- ठीक है लेकिन जल्दी से काम करो, अब मेरे लंड को उसकी चूत में जाकर ही शांति मिलेगी. अगले ही दिन मौसी मेरे घर आ गईं. माँ और मैं घर पर थे। मैंने दरवाज़ा खोला और वहां ममता को देख कर मैं उसका दीवाना हो गया. मेरी चाची ने मुझे जो बताया था, वह उससे भी अधिक अद्भुत महिला थी। वह सिर्फ 22 साल की लग रही थी.

उसके स्तन कमाल के थे, ब्लाउज में ऊपर से उसके आधे स्तन साफ़ दिख रहे थे। घर के अंदर ले जाते समय चाची ने मुझसे पूछा कि पुर्जा कैसा लगा. मैंने कहा कि यह तो बहुत मस्त है, प्लीज जल्दी से मेरी इसके साथ सेटिंग करवा दो और इसे मेरी रांड बना दो। चाची ने मुझसे कहा कि अब तैयार हो जाओ, पता नहीं कब चोदने को मिलेगा.

अब मैं बड़ी बेसब्री से ममता की चूत का इंतज़ार करने लगा. अब मैंने अपना लंड और चूत चाटना बंद कर दिया था. क्योंकि मैं अपने लंड से ढेर सारा रस ममता के मुँह में डालना चाहता था ताकि उसका पूरा मुँह भर जाये. आख़िरकार कुछ दिनों के बाद वो दिन आ ही गया जिसका मैं बेसब्री से इंतज़ार कर रहा था. उस दिन बारिश हो रही थी और मैं घर पर अकेला था. क्योंकि मम्मी और पापा बाहर गए थे और रात तक आने वाले नहीं थे. सबसे पहले मुझे मेरी चाची का फोन आया कि मैं कहाँ हूँ।

उसने मुझे चूमा और बोली- तेरी चाची तेरी और तेरे लंड की बहुत तारीफ करती है. आज तो मैं भी देखूँ कि तुममें कितनी ताकत है, आओ मेरे राजा, मुझे अपनी ताकत दिखाओ। यह सुनते ही मैंने उसके गीले होंठों को एक बार फिर चूसा और उसे उठाकर बिस्तर पर ले गया। बाहर निकलते ही हम दोनों पूरे नंगे हो गये और जैसे ही उसने मेरा 7 इंच का लंड देखा तो उसने उसे अपने मुँह में ले लिया. और बोली- आज तो मजा आ जायेगा, मैंने आज तक ऐसा लंड नहीं देखा.

मैंने अपना लंड अच्छे से चुसवाया और फिर उसका सिर पकड़ कर उसके मुँह को चोदने लगा. जैसा कि मैंने प्लान किया था कुछ ही देर में मैंने उसका मुँह अपने लिंग रस से पूरा भर दिया। उसको अपने लंड का रस पिलाने के बाद मैंने उसकी चूत का रस पिया. उनकी चूत सच में कमाल की थी, ऐसी चूत तो मैंने अपनी मौसी की भी नहीं देखी थी।

फिर मैंने उसे जोर जोर से ममता की चुदाई शुरू कर दिया. मैं जानता था कि अगर आज मैंने इसे जी भर कर चोदा तो ये कुतिया जिंदगी भर मेरी रांड बनकर रहेगी। और उस समय मैंने अपनी पूरी जान उसकी चूत फाड़ने में लगा दी. और एक बार उसकी खुली हुई चूत से खून निकाल दिया. उसकी चूत खून और उसकी चूत के तरल पदार्थ से भर गई थी। अब तक उसकी चूत 4 बार पानी छोड़ चुकी है और मैंने सिर्फ 1 बार। फिर मैंने उसे अपने लंड का तरल पदार्थ पिलाया और फिर उसे छोड़ दिया.

35 मिनट तक आराम करने के बाद वो बाथरूम गईं और फ्रेश हुईं. तो उसने मुझे गले लगा लिया और बोली कि आज तुम जब चाहो मुझे चोद सकते हो. मुझे तुम्हारी रांड बनना अच्छा लगेगा. उस दिन के बाद मैंने ममता और चाची को एक साथ उसके घर पर चोदा.

अब मैं अपनी चाची को दल्ली कहता हूं क्योंकि उसी डाली ने मुझे एक हॉट रंडी का मालिक बना दिया है….

तो देखा आपने मैंने अपनी चाची को कैसे दल्ली बनाकर ममता की चुदाई कर डाली, दोस्तों कैसी लगी मेरी स्टोरी मैंने कहा था आपकी पैंट गीली होने वाली है , तो चलिए मिलते है अगली स्टोरी मैं तब तक के लिए अपना ध्यान रखिये, और हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ने के लिए हिंदी सेक्स स्टोरी पर क्लिक करे

Bhopal Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga