कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा अपने घर बुलाकर

कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा अपने घर बुलाकर

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आशिका है आज में आपको बताने जा रही हु की कैसे मुझे “कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा अपने घर बुलाकर”

में मुंबई की रहने वाली हूँ मेरी उम्र 24 साल है और में एक शादीशुदा महिला हूँ. मेरे पति एक ठेकेदार हैं और मैं बहुत पैसे वाले अमीर परिवार से हूं। मेरे पति का नाम अमन है

और मैं उनके साथ अपनी लव लाइफ में बहुत खुश हूं। वैसे मैंने अपनी वर्जिनिटी कॉलेज में ही खो दी थी और अमन भी हमेशा मुझे सेक्स में संतुष्ट करता है. (कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा)

उसका लंड करीब 6 इंच का है. मैं भी उसकी तरह सेक्स की बहुत भूखी हूं और हम दोनों जहां भी जाते हैं लोग मुझे घूरते रहते हैं।

मेरे बूब्ज़ भी बहुत बड़े 34 साइज़ के हैं और लोगों की नज़रें अक्सर उन पर टिकी रहती हैं। मुझे भी जींस, टी-शर्ट पहनना ज्यादा पसंद है और अमन को भी ये सब बहुत पसंद है.

दोस्तों, यह मेरी शादी के लगभग एक साल बाद की बात है, तभी हमें एक सड़क बनाने का सरकारी ठेका मिला। अमन अब किसी भी कीमत पर वह कॉन्ट्रैक्ट हासिल करना चाहता था

क्योंकि हम पहले से ही शेयर बाजार में बहुत सारा पैसा निवेश कर चुके थे। और उस समय स्टॉक के दाम काफी गिर गए थे इसलिए घर में भी थोड़ा तनाव था.

अब जब तक उस शेयर की कीमत दोबारा नहीं बढ़ी, हमारा पैसा वहीं फंसा हुआ था, इसलिए हमारे लिए यह कॉन्ट्रैक्ट पाना बहुत जरूरी था और अब उस कॉन्ट्रैक्ट के लिए मुझे किसी सरकारी आदमी का साथ होना जरूरी था

क्योंकि सब उनके ही हाथ में होता है। अमन ने बहुत कोशिश की, लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ. तभी मैंने उससे कहा कि मेरा एक कॉलेज दोस्त है रोहित और उसकी पहुँच बहुत ऊपर तक है

अगर उसकी मदद ली जाए तो कैसा रहेगा? तो अमन ने कहा कि ये बात तो बहुत अच्छी है, तुम जल्दी से फोन करो. तो मैंने कहा कि में एक दोस्त से उसका फ़ोन नंबर ले लूँगी और फिर अमन अपने काम पर चला गया.

दोस्तों रोहित ने अपने कॉलेज के समय में बहुत सी लड़कियों को चोदा था क्योंकि उसकी अदाएं ऐसी थी कि हर लड़की उस पर मरती थी और वो मेरे कॉलेज ग्रुप का बॉस था

जिसका मोबाइल नंबर मेरे पास पहले से ही था. तो मैंने उसे कॉल किया

मैं: हेलो रोहित, मैं आशिका बोल रही हूँ।

रोहित: अरे आज तुम्हें अचानक रोहित की याद कैसे आ गयी?

में : हाँ यार दोस्त ही कभी कभी काम आते है, मुझे तुमसे कुछ काम था.

रोहित : हाँ बोलो ना, यह क्या काम है और वैसे भी रोहित खूबसूरत लड़कियों के काम के लिए हमेशा तैयार रहता है।

मैं: रोहित, क्या हम कहीं मिल सकते हैं क्योंकि मैं तुम्हें वहां आराम से अपनी पूरी बात विस्तार से बता सकूंगी?

रोहित: ठीक है तो कल दोपहर को तुम मेरे घर आ जाना, मैं घर पर बिल्कुल अकेला रहता हूँ।

में : हाँ तो ठीक है, में कल दोपहर को आपके घर आऊंगी, हम वहीं बैठकर बात करेंगे.

फिर अगले दिन दोपहर में मैंने काली जीन्स और गुलाबी टॉप पहना हुआ था, मेरे स्तन हल्के से बाहर दिख रहे थे, जिन्हें देखकर कोई भी आदमी उन्हें पाने के लिए बेताब हो जाएगा. (कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा)

मैंने अपने घर से निकलने से पहले उसे फोन किया। और कहा कि मैं आ रही हूं और मैं करीब आधे घंटे में वहां पहुंच गई. वो भी मेरा बहुत इंतज़ार कर रहा था.

मैंने वहां पहुंचकर देखा कि उसका घर बहुत सुंदर था, उस समय उसकी मां घर पर नहीं थी और पापा बिजनेस के सिलसिले में कुछ दिनों के लिए बाहर गये हुए थे.

अब वहां पहुंचकर मैं अंदर गई और सोफे पर बैठ गई. उन्होंने मुझसे पूछा कि चाय या कॉफ़ी. मैंने कहा कि चाय चलेगी और अब हम थोड़ी देर तक इधर उधर की बातें करते रहे और फिर चाय बनकर आ गयी.

ऐसे ही बातें करते हुए हमने चाय पी लि. फिर उसने अपने नौकर से कहा कि आज तुम अपने घर जाओ। हमें कुछ जरूरी काम है और अब यह बात सुनकर में उसकी तरफ देखने लगी.

फिर जैसे ही नौकर बाहर गया तो उसने दरवाज़ा अंदर से ठीक से बंद कर दिया और मेरे ठीक पास सोफे पर बैठ गया और फिर मुझसे मज़ाक करते हुए कहने लगा कि तुमने शादी के बाद भी अपना फिगर बहुत अच्छा मेंटेन किया हुआ है.

आप दिखने में आज भी बेहद हॉट, सेक्सी और खूबसूरत हैं. तो मैंने मुस्कुराते हुए उन्हें धन्यवाद दिया और फिर उन्होंने मुझसे मेरे काम के बारे में पूछा.

मैंने उनसे कहा कि मुझे उस सड़क को बनाने का ठेका चाहिए, इसके लिए हमें निश्चित रूप से एक सरकारी आदमी की मदद की आवश्यकता होगी और बदले में हम उसे कुछ पैसे का हिस्सा बना सकते हैं

लेकिन मेरे पति की उस तक पहुंच नहीं है, इसलिए मुझे इस काम को करने के लिए तुम्हारी मदद चाहिए. आप श्री राज कुमार को जानते हैं जो यहाँ एक बहुत अच्छे सरकारी पद पर हैं

इसलिए यदि आप मेरी मदद कर सकें तो यह मेरे लिए बहुत अच्छा होगा। फिर वो मुझे ऊपर से नीचे तक पूरी तरह से देखने लगा और उसकी नज़र मेरे बूब्स पर टिकी थी

और फिर उसने कहा कि हाँ में तुम्हारी मदद जरुर कर सकता हूँ, लेकिन बदले में मुझे क्या मिलेगा? तो मैंने झट से कहा कि अगर तुम चाहो तो इस काम के बदले में मुझसे कुछ पैसे ले सकते हो.

मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो जोर-जोर से हंसने लगा और फिर कहने लगा कि पैसे की जरूरत किसे है? और अब वो मेरे बिल्कुल करीब आ गया और उसने अपना हाथ मेरे कंधे पर रख दिया.

उसकी इस अचानक हरकत से मैं थोड़ा सकपका गई और बहुत धीरे से बोली कि फिर तुम क्या चाहते हो? वो अपना एक हाथ मेरे पीछे मेरी पीठ पर ले गया और धीरे-धीरे सहलाने लगा। (कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा)

अब मैंने उससे एक बार फिर से पूछा कि प्लीज रोहित़ मुझे बताओ, तुम क्या चाहते हो? फिर उसने कहा कि आप दोस्तों में उसके मुहं से यह बात सुनकर बिल्कुल हैरान हो गई

क्योंकि मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि वो मुझसे ऐसा कुछ कहने वाला है या वो मेरे लिए अपने मन में ऐसा कुछ छुपाकर रख रहा है. मैं काफी देर तक उनकी उस बात के बारे में सोचती रही

कि अब मैं इसका क्या जवाब दूं? फिर कुछ देर सोचने के बाद मैंने उससे कहा कि में अब एक शादीशुदा औरत हूँ और यह बिल्कुल भी ठीक नहीं है, में ऐसा कभी नहीं कर सकती.

तुम चाहो तो मुझसे कुछ और भी ले सकते हो. तभी मेरा यह जवाब सुनकर वो धीरे-धीरे अपना हाथ मेरे कंधे से नीचे ले जाने लगा तो मैंने उससे कहा कि रोहित यह सब ठीक नहीं है.

फिर उसने झट से कहा कि तुम्हें क्या लगता है एक शादीशुदा औरत को शादी के बाद मज़ा नहीं आता? और इसी बीच वो अपनी एक उंगली को मेरे बूब्स के खुले हुए हिस्से पर घुमाने लगा

और में उससे कहने लगी कि नहीं यह ठीक नहीं है, प्लीज अब रुक जाओ. तभी उसने मुझसे कहा कि अगर तुम कॉलेज में मेरे सबसे अच्छे दोस्त की गर्लफ्रेंड नहीं होती तो में तुम्हें उसी समय चोद सकता था

और तुम्हारे कॉलेज का बॉस भी मुझे हमेशा तुम दोनों की सारी बातें बता दिया करता था और उसने तुम्हे किस किस जगह पर ले जाकर चोदा है, वो सब मुझे भी पता है।

दोस्तों अब में उसकी यह सभी बातें सुनकर बिल्कुल चकित हो गई थी और में सोचने लगी थी कि उसको मेरी पिछली सारी सच्चाई पता है और अब अगर उसने यह सब बातें मेरे पति को बता दी तो में फंस सकती हूँ.

मुझे उससे बहुत डर लगने लगा और फिर थोड़ी हिम्मत करके मैंने उससे कहा कि यह अलग बात है क्योंकि रोहित की तब शादी भी नहीं हुई थी।

तभी उन्होंने मुझसे बहुत प्यार से आग्रह किया और कहा कि इतने बड़े कॉन्ट्रैक्ट में मैं भी तुम्हारी मदद कर रहा हूं. मैंने बदले में तुमसे बस थोड़ा सा प्यार माँगा है

और तुम भी बहुत अच्छी तरह उस ठेकेदार की पहुंच को जानती हो और अब उसने बातों ही बातों में मौके का फायदा उठाया और मेरे टॉप के ऊपर से ही मेरे बूब्स को पकड़ लिया और धीरे-धीरे दबाने लगा.

में : नहीं प्लीज़ रोहित अब छोड़ दो, में तुम्हारे साथ यह सब नहीं कर सकती. फिर उसने मेरा मुँह पकड़ा और मेरे होठों पर बहुत हल्का सा किस कर दिया, लेकिन फिर भी मैंने उसका साथ नहीं दिया.

मैं गहरी सांसें लेकर उसे घूरने लगी. उसने एक बार फिर मुझे धीरे से चूमा, लेकिन मैंने फिर भी उसका साथ नहीं दिया. जब उसने मुझे देखा तो उस वक्त मेरी दोनों आंखें बंद थीं

और अब मुझे उससे एक और किस की उम्मीद थी, लेकिन थोड़ी देर बाद जब मैंने आंखें खोली तो वो मुझे देखकर मुस्कुरा रहा था.

फिर उसने तुरंत मुझे बहुत लंबा किस किया और अब में भी उसका साथ देने लगी. उसने अपनी जीभ मेरे मुँह के अंदर तक डाल कर मुझे कई मिनट तक चूमा।

काफी देर तक चूसने के कारण हमारे होंठ बिल्कुल लाल हो गये थे। अब उसने अपनी टी-शर्ट उतार दी और मेरा टॉप भी उतारने लगा और कुछ ही पलों में उसने मेरी ब्रा भी उतार दी

अब मैं उसके सामने सिर्फ जींस में थी और वो भी अपनी जींस में था. फिर उसने मेरा एक हाथ अपनी ज़िप पर रख दिया. उसका इशारा समझ कर मैंने भी उसकी पैंट उतार दी और अंडरवियर भी उतार कर फेंक दिया.

फिर मैंने देखा कि उसका लंड करीब 8 इंच का था और एकदम खड़ा हुआ था. फिर उसने मुझे बालों से पकड़कर अपना मोटा लंबा लंड मेरे मुँह में डाल दिया. (कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा)

और बोला कि मुझे पहले से ही पता है कि तुम्हें लंड बहुत पसंद है, तुम्हारे बॉस ने मुझे बताया था. अब में बहुत देर तक उसका लंड चूसती रही और वो आआह उह्ह्ह्ह करता रहा.

फिर उसने मुझे अपनी बाहों में उठाया और अपने बेडरूम में ले गया, वहां जाते ही उसने मेरी जींस और पेंटी उतार दी और मेरी चूत को चाटने लगा.

दोस्तो, मैंने आज तक ऐसा सेक्स कभी नहीं किया था. वो मेरी चूत को कुत्ते की तरह लगातार चाट रहा था और में ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ ले रही थी उह्ह्ह्ह आईईईई रोहित प्लीज अब मुझे छोड़ दो प्लीज मेरे साथ ऐसा मत करो ऊईईई माँ छोड़ दो मुझे, लेकिन उसने मेरी एक न सुनी.

इस बीच में एक बार उसके मुहं में झड़ चुकी थी और उसने मेरी पूरी चूत का रस चाट लिया और फिर कुछ देर बाद उसने अपना लंड चूत के मुहं पर रखा

और एक ज़ोर का झटका मारा आआह उह्ह्ह्हह्ह और अब उसका आधा लंड मेरी चूत के अंदर जा चुका था. और अगले झटके में उसने पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया

जिसकी वजह से में बहुत ज़ोर से चिल्लाई, उउऊह्ह्हह्ह्ह्हहह आह्ह्ह्हह्ह्ह्ह वो मेरे ऊपर था और स्पीड बड़ाकर मुझे बहुत अच्छे तरीके से चोद रहा था फिर कुछ देर बाद उसने मुझे अपनी गोद में उठाया

और बेड के कोने पर बैठा दिया और मुझे ज़मीन पर लटका दिया. मेरी पीठ और सिर का कुछ हिस्सा ज़मीन पर था, मेरे दोनों पैर उसकी कमर के दोनों ओर से बिस्तर पर थे

और उसने मुझे कमर से पकड़ रखा था और मुझे चोद रहा था। मैंने आज तक कभी भी ऐसी पोजीशन में अपनी चुदाई नहीं करवाई थी. कुछ देर बाद उसने मुझे वापस बिस्तर पर ले जाकर लिटा दिया

और मेरे दोनों पैरों को मेरे हाथों के पास ले जाकर मेरी चूत में अपना लंड डाल कर चोदने लगा. तभी मेरा मोबाइल बजा, उसने अपना लंड बाहर निकाला. मैंने कॉल रिसीव की, वो मेरे पति अमन थे.

उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या कुछ काम हुआ? तो मैंने उससे कहा कि हाँ रोहित हमारी मदद करने के लिए तैयार हो गया है और उस समय रोहित मेरे बूब्स को दबाने में लगा हुआ था.

तो अमन ने कहा कि अच्छा रोहित को फोन दे दो और फिर मैंने उसे फोन दे दिया और अब मैं उसका लंड चूसने और चाटने लगी. अमन: हमारी मदद करने के लिए सहमत होने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद रोहित।

रोहित : अरे कोई बात नहीं सब ठीक है आख़िर आशिका तुम्हारे लिए इतना कुछ कर रही है तो मुझे भी तुम्हारी थोड़ी मदद करनी होगी और फिर वो मेरी तरफ देखकर हंसने लगा.

अमन: तुम्हें तो पता ही होगा कि वो शुरू से ही अपने दोस्तों के साथ कितनी खुश रहती है. वैसे, मैं सबसे ज्यादा भाग्यशाली हूं जो अब आशिका मुझे चाहती है।

रोहित: हाँ मुझे मालूम है कि तुम्हारी पत्नी आशिका पहले भी बहुत अच्छी लड़की रह चुकी है।

मैंने उसके मुहं से यह बात सुनकर उसकी तरफ मुस्कुरा दि और फिर कुछ देर बाद उसने मुझे मोबाइल दिया और मुझे लेटा दिया और मेरे पूरे शरीर पर किस करने लगा.

अमन: आशिका, अगर उसे बदले में कुछ चाहिए तो तुम उससे पूछ लेना.

में : हाँ, मैंने पहले उससे यह सब पूछा था, लेकिन उसे अपने दोस्त की मदद करने पर पैसे नहीं चाहिए और इसलिए में उसे कोई अच्छा सा उपहार दूँगी जिससे वह खुश हो जाएगा। (कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा)

अमन- हाँ तुम्हारा ऐसा करना बिल्कुल ठीक रहेगा, लेकिन उसे कुछ अच्छा सा गिफ्ट देना जिसे लेने के बाद उसके मन में कुछ कमी जैसी बात ना रहे।

में : हाँ जान, तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो. आज मैं उसे ऐसा गिफ्ट देने जा रहा हूं जो उसे पहले किसी ने नहीं दिया होगा.

अमन : चलो अब बताओ तुम घर कब आ रही हो?

में : हाँ अभी थोड़ा समय और लगेगा क्योंकि हम बहुत दिनों बाद मिले है तो हम बैठकर कॉलेज के पुराने दिनों के बारे में बात कर रहे है इसलिए में थोड़ा लेट हो जाऊंगी.

अमन : ठीक है, वैसे भी कोई जल्दी नहीं है, में भी थोड़ा लेट आऊंगा और तब तक तुम मजे करो.

में : हाँ मज़े तो में बहुत देर से कर ही रही हूँ.

अमन: ठीक है बाय.

में : बाय.

Visit Us:-

फिर उसने मुझे जानवर की स्टाईल में लेकर पीछे से मेरी चूत को अपने लंड से भर दिया और बहुत तेजी से चोदने लगा और मैं आआहह उहह ऑश और ज़ोर से चोदो मुझे हाँ चोदो रोहित कह रही थी।

उसने मुझे बहुत देर तक ऐसे ही चोदा और अब मैं बहुत थक चुकी थी और ऊपर से नीचे तक पसीने से भीग चुकी थी. तो उसने कहा कि में कब से तुम्हें चोदना चाहता था

और तुमने बॉस के अलावा कॉलेज में कितने लोगों का बिस्तर गर्म किया है, वो सब मुझे पता है, लेकिन मुझे ऐसा मौका नहीं मिला. कोई बात नहीं आज मैं तुम्हारी चुदाई का पूरा मजा लूँगा

और फिर अचानक से उसने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और अपना सारा गरम वीर्य मेरे चेहरे और बूब्स पर डाल दिया और अब में एक रंडी की तरह लग रही थी. मैं उसका वीर्य चाट रही थी.

थोड़ी देर बाद मैंने उसका लंड अपने मुँह में लिया और उसे चाटकर साफ कर दिया और उसके बाद हम दोनों बाथरूम में गए और साथ में नहाए और वहाँ हमने एक बार और सेक्स का मज़ा लिया।

इस बार उसने मुझे करीब बीस मिनट तक लगातार चोदा और ऐसा करते करते हमें करीब तीन घंटे बीत गये थे. अब में बाथरूम से बाहर आई और अपने कपड़े पहने और फिर उन्होंने मुझसे कहा कि में थोड़ी देर में तुम्हारी मीटिंग मिस्टर राज कुमार से फिक्स कराऊंगा और अब उन्होंने हमारे कॉलेज के बॉस को फोन किया

और कहा कि तुम्हारी गर्लफ्रेंड है. आज मेरे पास आओ, उसका फिगर अभी भी वैसा ही है लेकिन और भी खूबसूरत हो गया है, आज उसे मेरी जरूरत थी और मैंने आज तुम्हारी गर्लफ्रेंड को जमकर चोदा और मुझे उसे चोदने में बहुत मजा आया.

फिर उन्होंने फोन मेरे हाथ में दे दिया, बॉस ने मुझसे कहा कि वो तुम्हें कॉलेज टाइम से ही चोदना चाहता थे, लेकिन में तब तुम्हें ये सब नहीं बता सका. दोस्तों में उसके मुहं से यह बात सुनकर उससे कुछ नहीं कह सकी.

फिर उन्होंने कहा कि आशिका तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो, मैंने कहा कि सॉरी मुझे उस कॉन्ट्रैक्ट के लिए उनकी मदद की ज़रूरत थी इसलिए मैंने यह सब किया। (कॉलेज के दोस्त ने जमकर चोदा)

उन्होंने कहा कि तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो, जब भी मैं वहां आऊंगा तो हम साथ में मस्ती करेंगे और रोहित ने मुझे तुम्हारे पूरे मामले के बारे में बाद में बताया कि तुमने कितनी रातें किसके साथ और किस-किस के साथ बिताईं.

तुम्हें किसने चोदा है, मुझे सब पता है आशिका. मैं उससे बात करते हुए थोड़ा घबरा गई क्योंकि वो मेरा पहला बॉयफ्रेंड था जिसने मेरी सील तोड़ी थी और फिर मैं वहां से कुछ देर बाद अपने घर वापस आ गई.

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga