दोस्त की बड़ी बहन को चोदा और इसके बदले मे दीदी ने मेरी प्यास बुझाई

दोस्त की बड़ी बहन को चोदा और इसके बदले मे दीदी ने मेरी प्यास बुझाई

नमस्कार दोस्तों, यह दिल्ली का शोबित है। मेरे पास आप सभी के साथ साझा करने के लिए एक कहानी है। ये कहानी एक फंतासी है। और कहानी में मेरी दोस्त की बड़ी बहन है डिंपी रौतेला। चलिये तो कहानी शुरू करते हैं।

मेरी फैमिली में, मैं (20 साल), मेरी दोस्त की बड़ी बहन को चोदा डिंपी (27 साल), और मम्मी-पापा है। मम्मी और पापा दो नौकरी करते हैं 9-6. वो दो शाम को करीब 8 बजे घर पर आते हैं।

डिंपी दी ने कॉलेज खतम कर लिया है, और उसकी शादी के लिए लड़का देख रहे हैं। मैं सीए के फाइनल में हूं। हमारा घर 2 बीएचके है। पापा मम्मी का एक कमरा है। दूसरा डिंपी दी का है, और मैं हॉल में सोता था।

ऐसा नहीं था, की मैं डिंपी दी के कमरे में नहीं तो शक्ति था। मैं हॉल में रात को टीवी देखने के लिए सोता था। ये कहानी है अप्रैल 2019 की, यानी कोरोना से पहले की। मैं टैब सीए इंटरमीडिएट में था, और डिंपी दी ने कॉलेज खतम ही किया था।

जब मैं 19 साल का था तब से मेरी आदत हस्तमैथुन करने की है। एक बार मैं रात में अकेला हॉल में फिल्म देख रहा था। मूवी में ब्रेक आते ही मैं चैनल सर्फिंग करना लगा, और सर्फिंग करते-करते, मैं पहला एफटीवी पर।

रात के करीब 12:10 हो रहे थे, (Delhi Escorts) और आधी रात गर्म चल रहा था हम पर। मेरी तो आखें फटी की फटी ही रह गई। कपड़ो के नाम पर शरीर पर कुछ भी नहीं था उसमे तो। बस चुत छोड कर बाकी सब कुछ दिख रहा था।

तब मैंने रात को 2 बार मुठ मारी। फिर मेरी आदत बन गई रात को आधी रात गर्म देख कर मुठ मारने की। चलिये वापस कहानी पर आते हैं।

अप्रैल 2019 में, मैं हॉल में ही सोता था। डिंपी दी रात को हॉल में आई और बोली-

डिंपी दी: मैं भी यही सुनूंगी आज, क्योंकि मेरे कमरे का एसी खराब हो गया है। (Bangalore Escorts)

हॉल में 4 X 6 ka ही बेड था। तो आप समझ सकते हैं, की हम कितने पास-पास सोने वाले थे। फ़िर मैंने बोला-

मेन: दी ये बेड तो वैसा ही छोटा है। इसपे हम दोनो कैसे सोयेंगे?

फिर वो बोली: क्या फरक पड़ा है, तू मेरा भाई ही तो है।

Escorts Services in Delhi

दी की बात पर मैं बोलता भी क्या है। फिर वो आ गई और बिस्तर पर चलो गई। टैब 11:15 हो रहे थे, और मैं मिडनाइट हॉट का इंतजार कर रहा था। उस रात मैं आधी रात गर्म नहीं देख पाया, और मुथ भी नहीं मारी। (Bangalore Call Girls)

लेकिन अगली रात मुझसे रहा नहीं गया। 11:50 पर मैंने चेक किया की डिंपी दी सो रही थी। मैंने 12 बजे टीवी किया, और मिडनाइट हॉट देखने लगा पर। मजा आ गया देख कर, और मेरा लुंड खड़ा हो गया। फिर खतम होने के बाद, मैं ले गया बेड पर, डिंपी दी से थोड़ा दूर। उसके बाद मैंने अपना बॉक्सर नीचे किया, सीधे खड़ा हो गया को लुंड करने के लिए।

जैसे ही मैंने बॉक्सर नीचे किया, एक हाथ ने मेरा लुंड पकाया लिया। मेरी तो फट कर हाथ में आ गई थी। वो डिंपी दी का हाथ था। वो मेरे लुंड को ऊपर-नीचे करने लगी, तो मेरी जान में जान आई। मुझे बहुत मजा आने लगा। फिर पता नहीं क्या हुआ, वो मेरे ऊपर आ गई, और मेरा लुंड पका कर अपनी चुत पर सेट कर लिया।

अब मेरा लुंड धीरे-धीरे उसकी चुत में जाने लगा। मेरे तो होश ही उड़ चुके थे, और सब कुछ अपने आप ही हो रहा था। पता नहीं उसे अपनी पैंटी कब उतरी होगी। पूरा लुंड और जाने के बाद, वो ऊपर-नीचे होने लगी। मुझे बहुत मजा आने लगा, क्योंकि ये मेरी पहली चुदाई थी।

20 मिनट की छुडाई के बाद, मैंने बोला-

मुख्य: मैं झडने वाला हूं।

उसे बोला: मैं भी

और वो झड़ गई। दी के साथ-साथ मैं भी झड़ गया। मैंने अपना सारा माल उसकी चुत में दाल दिया था।

सुभा मैं 10 बजे के करीब उठा। मम्मी-पापा ऑफिस के लिए जा चुके थे। डिंपी दी किचेन में थी। मैं किचेन में पाहुचा, तो मुझे मुस्कान दी मस्त वाली। मैं हेयरानी से उसे देख रहा था। फिर मैंने उससे पूछा-

मुख्य: क्या हुआ?

मैं उसके पास गया और पूछा, पिचली रात के बारे में। फिर उसे मुस्कान करते हुए बोला-

डिंपी दी: कल तो मजा ही गया। बहुत अच्छा लगा था मुझे।

मैंने बोला: मजा तो मुझे भी आया था दी। पर क्या ये सही है? हम दो भाई दोस्त की बड़ी बहन है, तो क्या हम सेक्स करना चाहिए?

डिंपी दी बोली: हम भाई दोस्त की बड़ी बहन बाद में है, पहले लड़का और लड़की है। हमारी भी एक जरूरत है। तू भी तो रोज़-रोज़ हाथ से काम चला रहा था। क्या इतना मजा था उसमें, जो मेरी चुत में था? मेरी जरूरत भी तो होती है। बहार का लुंड लेने से तो अच्छा है, की घर में ही मिल जाए। और मुझे पक्का पता है, की कल तेरा लुंड पहली बार चुत में गया था।

मुख्य बोला: पार…

डिंपी दी बोली: युद्ध कुछ नहीं। अब तुझे मेरे साथ सेक्स करना है तो कर, नहीं तो तेरी मर्जी भाई। मैं नहीं जा रही हूं।

और ये बोल कर वो बाथरूम की तरफ जाने लगी। (Goa Escorts) किचन के बिलकुल सामने बाथरूम है। जाते-जाते अपना टॉप निकला, और फेंक दिया। फिर उसे अपना पायजामा निकला, उसके बाद ब्रा निकली, और बाथरूम के गेट पर अपनी पैंटी निकला कर और चली गई।

मैं ये सब किचन से देख रहा था। फिर सोचा जब उसे कोई समस्या नहीं थी, तो मुझे क्यों हो रही थी। मुझे तो मस्त चुत मिल रही थी। और उसका गोरा-गोरा बदन मस्त था बॉस।

फिर मैं भी कपड़े उतर कर नंगा हो गया, और बाथरूम का गेट धीरे से खोला। पहले मैंने अपनी मुंडी और घुसाई और मुस्कान की। डिंपी दी ने भी मुझे स्माइल दी। फिर मैं अंदर आ गया। ऊपर से शॉवर चल रहा था, और नीचे हम दोनो बिलकुल नंगे।

मैंने डिंपी दी को अपनी दोस्त की बड़ी बहन में ले लिया। फिर उसके होंठों को किस किया, और फिर हम स्मूच करने लगे। उसके बाद मैं दीदी की पूरी बॉडी को चुनने और चाटने लगा। मैं उसके एक बूब तो चुनने लगा, और दूसरे बूब को दबने लगा। डिंपी दी ने मेरा सर ऊपर किया, और खुद नीचे होने लगी।

Mahipalpur Escorts Services

अब वो मेरे लुंड के सामने आ गई। फिर उसे मेरे लुंड पर किस किया, और अपने मुह में ले लिया और चुना लगा। मैं सात आसमान पर था, क्यूकी मैं पहली बार अपना लुंड चुस्वा रहा था। वो भी अपनी सेक्सी दीदी से।

डिंपी दी कभी जीभ से लुंड चाट रही थी, तो कभी गले तक मुह में ले रही थी। करीब 10 मिनट बाद वो खादी हुई, और मुझे नीचे झुके लगी। दीदी ने अपनी सही वाली टांग उठा ली, जिससे मेरे सामने उसे पिंक कलर की चुत आ गई।

अब मेरे मुह में पानी आ रहा था। फिर मैं उसकी चुत को चाटने लगा। मैं कभी उसकी चुत को छूता, तो कभी चाट रहा था। उसके मुह से कामुक आहें निकल रही थी। (Whitefield Escorts)

8-9 मिनट बाद उसे मुझे खड़ा किया, और मेरे लुंड को मसाला थोड़ी देर। फिर वो मेरी तरफ पीठ करके वो झुक गई। मैंने अपना लुंड उसकी चुत पर लगा, और अंदर की और ढका दिया। 2-3 ढक्को के बाद लुंड पूरा और चला गया।

मैं उसके बाद आगे-पीछे होने लगा। मेरा लुंड उसकी चुत के अंदर-बहार हो रहा था। मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। मैं पहली बार चुत छोड रहा था, (रात को तो चुत ने मुझे छोड था), और वो भी अपनी मलयी जैसी दीदी की चुत।

वो ज़ोर-ज़ोर के आहें भर रही थी, और बोल रही थी-

डिम्पी दी: और ज़ोर से छोड भाई, (Bangalore Escorts) और ज़ोर से। पूरा घुस जा मेरी चुत में। मेरी चुत तेरे लिए है भाई। तेरी दोस्त की बड़ी बहन तेरी है, और अब उसकी चुत भी तेरी है।

मैं उसके स्तन को दबा रहा था, और उसकी पीठ को चाट रहा था। करीब 20 मिनट बाद में झड़ने वाला था। फिर मैंने उसे बोला-

मुख्य: दीदी माल कहा निकलालु।

उसे बोला: छुट में दाल दे।

फिर मैंने उसे चुत में 6-7 झटके मार कर सारा का सारा माल दाल दिया। जब मैंने अपना लुंड बहार निकला, तो उसकी चुत से मेरा माल निकल रहा था। फिर हमने एक-दूसरे को फिर से साबुन लगा, और साफ किया। फिर हम बाथरूम से बाहर आ गए।

पूरे दिन हम होंगे ही रहे, और पता नहीं क्या-क्या किया। वो सब अगले भाग में।

आप मेरे साथ शोबित पर जुड़ सकते हैं। [email protected]

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार मेल करे, और कमेंट भी करे।

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga