लड़की को पोर्न दिखाकर डाला चुदाई का जाल: गर्ल XXX स्टोरी भाग 2

लड़की को पोर्न दिखाकर डाला चुदाई का जाल: गर्ल XXX स्टोरी भाग 2

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “लड़की को पोर्न दिखाकर डाला चुदाई का जाल: गर्ल XXX स्टोरी भाग 2”। यह कहानी भावेश की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

गर्ल XXX स्टोरी में पढ़ें कि कैसे सीधी-सादी दिखने वाली पड़ोसी लड़की ने मुझे बेवकूफ बनाया और मेरे लंड का मजा लिया.

दोस्तो, मैं भावेश एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ।
कहानी के पहले भाग: गर्ल XXX स्टोरी में मैंने आपको बताया कि कैसे मैंने नंदिनी को पहली बार जम कर चोदा था.

अब आगे की गर्ल XXX स्टोरी:

मुझे डर था कि कहीं वो बीच में ही भाग न जाये, लेकिन वो तो खुद ही चुदाई करवाना चाहती थी.
ख़ैर… मैं अपनी पहली चुदाई से संतुष्ट था, लेकिन मुझे नंदिनी के बारे में कोई अंदाज़ा नहीं था, क्योंकि उसके बाद मैंने उसे नहीं देखा था।

मैंने अपनी पढ़ाई वापस शुरू कर दी। एक घंटे बाद मां गांव से लौट आई थी.
पापा को अभी भी काम था इसलिए वो वहीं रुक गये।

माँ खाना खाकर अपने कमरे में सोने चली गयी थी.

शाम 4 बजे मेरे घर की डोरबेल बजी.
वहां कौन होगा और मां की नींद में खलल न पड़े इसलिए मैंने दरवाजा खोल दिया.
तो नंदिनी दरवाजे पर थी.

नंदिनी बोली ‘भावेश, यहीं खड़े रहो और दरवाज़ा बंद मत करो।’ यह कह कर वह भाग गयी.

दो-तीन मिनट बाद वह चाय का थर्मस लेकर अंदर आई और दरवाज़ा बंद कर लिया।
वह हमारी रसोई में दाखिल हुई, दो कप लीं और मेरी स्टडी रूम में चली गई और मुझे अपने पीछे आने का इशारा किया।
मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है.

मैं स्टडी रूम में गया, दरवाज़ा बंद किया और ए.सी. चालू कर दिया। कुर्सी पर बैठते हुए नंदिनी ने दो कप चाय निकाली और एक कप चाय मुझे ऑफर की.

मैं चाय लेकर अपनी कुर्सी पर बैठा तो नंदिनी दूसरा कप लेकर मेरी गोद में बैठ गयी. मैं उसके व्यवहार से डर गया था क्योंकि आज तक उसने कभी मुझसे आँख नहीं मिलाई थी और आज यह कर रही थी!

लेकिन उसे कोई डर नहीं था.
उसने मेरे होंठों को धीरे से चूमा और बोली- आई लव यू बेबी! मैंने भी नंदिनी से कहा आई लव यू टू और फिर मैं भी उसके Big Boobs दबाने लगा   

फिर वो कहने लगी- सुबह तो बहुत मजा आया, हां मुझे अब भी थोड़ा सा दुख रहा है. लेकिन कोई बात नहीं, मैं तुम्हारे लिए वह दुःख सहन कर लूँगी। मेरे मन में तो लड्डू फूटने लगे. (गर्ल XXX स्टोरी)

मैंने हिम्मत करके कहा- तो नंदिनी, दोबारा करोगे?
वो बोली- भावेश, इच्छा तो मेरी भी है, लेकिन क्या तुम कल तक इंतज़ार कर सकते हो?

मैंने कहा क्यों?
वो- अभी तो मैंने तुमसे कहा कि आज दर्द हो रहा है, लेकिन अगर तुम चाहो तो मैं तुम्हारे लिए ये दर्द सहन कर लूंगी.

मैंने कहा- कोई बात नहीं नंदिनी, हम कल करेंगे. लेकिन एक वादा करो कि तुम कल समय निकालोगी और जिस तरह मैं चाहूँगा, वैसे चुदोगी!

वो बोली- जानू, आज से मैं तुम्हारी हूँ, तुम जैसे चाहोगे, जहाँ चाहोगे और जब चाहोगे, मैं तुमसे Chut Chudai करवाने को तैयार रहूंगी।

इतना कह कर वो मेरी गोद से उतर कर सामने बैठ गयी.
उसने मेरा ट्रैक पैंट नीचे खींच कर मुझे नीचे से नंगा कर दिया.

मैं उसके व्यवहार से हैरान था.
मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था.

उसने अपने दोनों हाथों में लंड पकड़ लिया और एक हाथ से उसे सहलाने लगी और दूसरे हाथ से उसे आगे-पीछे करने लगी।

मैं तो यही सोच रहा था कि हर वक्त शर्मीली रहने वाली नंदिनी इतनी एडवांस कैसे हो गई कि उसने सेक्स की कला कहां से सीख ली. मैं अपने आप पर काबू नहीं रख सका और पूछा- नंदिनी, तुमने ये सब कहां से सीखा?

उसके उत्तर से मैं निःशब्द रह गया।
फिर वो बोली- पहले मुझे अपना काम करने दो, फिर मैं तुमसे बात करूंगी.

उसने प्यार से मेरे लंड की चमड़ी पीछे खींची और पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया।

उसी समय उसने अपनी आँखें उठाईं और मेरी आँखों में देखने लगी जैसे पूछ रही हो कि मुझे कैसा लगा?
मैंने बोलना बंद कर दिया था; मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था.

मैंने उससे पूछने की कोशिश की तो उसने हाथ से चुप रहने का इशारा किया.

कुछ ही देर में वो पूरे मूड में आ गई और मेरे लंड को मुँह में लेकर जोर-जोर से चूसने लगी।
मैं सातवें आसमान पर उड़ रहा था. मुझे ऐसा लग रहा था मानो मेरा लंड किसी मुलायम जगह पर घूम रहा हो.

इस प्रक्रिया में मुझे पता ही नहीं चला कि कब मैं झड़ने की कगार पर पहुँच गया। तभी अचानक मेरे सब्र का बांध टूट गया और मेरे लंड से पिचकारी उसके मुँह में निकल गयी.

नंदिनी ने भी मेरे लंड को अपने मुँह के अंदर गले तक खींच लिया और लंड का सारा रस पी गयी।
उसने मुझे अपने लंड से वीर्य की एक भी बूंद देखने नहीं दी और इस दौरान वह मेरी आंखों में देखती रही.
वह मेरे चेहरे के भावों को पढ़ने की कोशिश कर रही थी.

मेरे लंड का सारा पानी निकालने के बाद भी उसने उसे नहीं छोड़ा.
वो लंड से खेलते हुए और हंसते हुए मुझसे पूछने लगी- मजा आया भावेश?

मुझे समझ नहीं आ रहा था कि इस पगली से कैसे पूछूं कि उसने ये सब कहां से सीखा.
लेकिन उनके चेहरे पर युद्ध जीतने वाली मुस्कान थी. (गर्ल XXX स्टोरी)

मैंने हिम्मत करके Nandini का चेहरा अपने हाथों में लिया और उसे देखता रहा.
उसके चेहरे पर विजयी मुस्कान थी, जो मुझे चिढ़ा रही थी.

मैंने उससे पूछा- नंदिनी, क्या तुम मुझे सच बताओगी, क्या तुमने पहले कभी सेक्स किया है?

वो हंसते हुए बोली- मुझे पता था कि तुम मुझसे ये पूछोगे. अरे मूर्ख, आजकल इंटरनेट पर सब कुछ उपलब्ध है। कल जब से तुमने मुझे चोदा है, तब से मैंने इस चुदाई का खूब आनंद उठाया है. मैं इस चुदाई के बारे में सब कुछ जानना चाहती थी.

मैं यहां से धीरे-धीरे चलकर अपने घर के बाथरूम तक गयी और पूरी नंगी होकर अपने मोबाइल कैमरे से अपनी Tight Chut की फोटो खींच ली, जिसमें से आपके लंड का रस टपक रहा था. मैं उसे अपनी उंगली से चाटने लगी. मुझे बहुत अच्छा लगा तभी तो आज मैंने तुम्हारे लंड का सारा रस पी लिया.

मैंने उसकी तरफ देखा और कहा- और?
वो- और… घर जाकर मैंने इंटरनेट पर सेक्स के बारे में हर चीज़ सर्च की. उसके बाद मेरा आपके साथ एक बार और सेक्स करने का मन कर रहा था, लेकिन कल आपकी चुदाई ने मेरी चूत पूरी फाड़ दी, क्या कोई ऐसे चोदता है?

उसकी बात सुनकर मुझे दुख हुआ.
मैंने कहा- सब कुछ इतना अचानक हुआ, सोचने का भी वक्त नहीं मिला. फिर मुझे डर भी था कि यह पहली बार है कि मैं तुम्हें चोदने के लिए मिला हूँ, कहीं तुम्हारा मन न बदल जाए और इसलिए मैं तुम्हें चोद ही दूँ। बस यही सोच कर मैंने तुम्हें चोद लिया.

वो बोली- लेकिन तुमने तो मेरी चूत फाड़ दी!
मैंने डरते हुए पूछा- तुम्हें ज्यादा दर्द तो नहीं हुआ ना? और तुम मुझे कल फिर चोदने दोगी ना?

नंदिनी हंसते हुए बोली- कल जो तुमने चुदाई की उसके बाद तो मैं तुम्हारी और तुम्हारे लंड की दीवानी हो गयी हूं.

और हाँ… मैं घर पर पढ़ाई के बहाने कल पूरी रात तुम्हारे घर रुकूँगी, तब तुम अपनी सारी इच्छाएँ पूरी कर लेना। लेकिन हाँ, कम से कम मुझे सुबह घर चल के जाने लायक छोड़ देना। और हाँ… अपना लंड साफ़ कर लेना!

ये कह कर वो उठी और मेरे लंड पर एक प्यारा सा चुम्बन दिया और चली गयी.
वो चली गयी थी लेकिन मेरे लंड को जबरदस्त चुसाई का मजा दे गयी थी.

जब से मैं जवान हुआ तब से सिर्फ यही सोचता रहता था कि कैसे लंड चुसवाने का मजा लिया जाए. मेरी किस्मत देखो… जिस लड़की ने लंड चूसा वो मेरी बचपन की दोस्त नंदिनी थी। (गर्ल XXX स्टोरी)

अब मुझे पूरी रात नंदिनी को चोदना था.
इससे पहले मुझे अपना लंड शेव करना पड़ा; बाल काफी बड़े हो गये थे.

मैंने कपड़े पहने और बाज़ार जाकर हेयर क्रीम खरीदी।
मैं बाथरूम में गया, अपने आप को पूरा नंगा किया और अपने लंड पर क्रीम लगाई।
कुछ देर बाद मैंने कपड़े से क्रीम पोंछी और बाल साफ़ हो गए।

उसी समय मुझे नंदिनी की याद आई और मेरा लंड हिनहिनाने लगा और मैंने खड़े लंड की फोटो खींच कर नंदिनी को भेज दी. उसका रिप्लाई आया- अरे वाह मेरे चिकने शेर … मैं आज रात को तेरी खाल उधेड़ दूंगी.

मैंने भी लिखा- मेरी नूरजहाँ को भी चिकना कर देना।
वह हंसी। (गर्ल XXX स्टोरी)

उस वक्त मैंने कुछ और बात की और फोन रख कर रात को सेक्स करने के बारे में सोचने लगा.
शाम को मैंने अपने कमरे में कुछ गुलाब के फूल कुचले और उनकी पत्तियाँ बिस्तर पर फैलाने की तैयारी की।

फिर जब मैं माँ के पास आया तो उन्होंने मुझे खुशखबरी दी उन्होंने कहा- मुझे बुआ के घर छोड़ दो। मुझे आज रात उसके घर रुकना है! मैंने कहा-उनके घर ऐसा क्या है?

वो बोलीं- कल उनके घर पर पूजा है और सुबह जल्दी जाना संभव नहीं होगा. इसलिए हमें रात को उनके घर जाकर रुकना होगा.

मैंने कहा- ठीक है माँ, आज रात मुझे भी पढ़ाई करनी है तो देर तक पढ़ूँगा और देर तक सोऊंगा तो देर से उठूँगा। मेरा फ़ोन बंद रहेगा.

वो बोली- हां ठीक है.
मैं माँ को ले गया और बुआ के घर छोड़ आया।

वापस आते समय मैं सौंफ वोदका की एक बोतल ले आया।
यह मेरी पसंदीदा शराब है जिसकी खुशबू बहुत अच्छी है।

आते ही मैंने धीरे से एक पैग लिया और नंदिनी से बातें करने लगा.
वो भी मुझसे चुदाई करवाने के लिए बेचैन थी और बस वक्त का इंतजार कर रही थी.

रात को आठ बजे वो मेरे घर आयी.
मैं उसे अंदर ले गया, दरवाज़ा बंद कर दिया और उसे अपनी बाहों में ले लिया।

उसने मुझे सूंघ कर कहा- बहुत अच्छी खुशबू आ रही है. आपने क्या खाया है?
मैंने कहा- मैंने खाया नहीं है, पीया है. (गर्ल XXX स्टोरी)

वो बोली- मैं भी पीना चाहती हूं.
मैंने कहा- ठीक है.

चूंकि वोदका पानी के रंग की थी, इसलिए उसने बिना कुछ कहे एक पैग ले लिया।
उसे मजा आने लगा. तभी उसे एहसास हुआ कि यह शराब है.

वो एक पल सोचने लगी और अचानक बोली- एक गिलास और, दो, मुझे ये अच्छी लगी!
मैंने उसके सामने दो गिलास बनाये और हम दोनों चियर्स करके पीने लगे.

कुछ देर बाद हमारे बीच संभोग शुरू हो गया और नंदिनी मेरे सामने पूरी नंगी हो गयी.
मैं भी नंगा हो गया और हम दोनों 69 में एक दूसरे को मजा देने लगे.

मैंने वाइन उसकी चूत में डाल दी और चूसने लगा. उसने मुझसे मेरे लंड पर शराब डालने के लिए एक बोतल भी मांगी।
कुछ ही देर में हम दोनों पूरी तरह उत्तेजित होकर स्खलित हो गये। (गर्ल XXX स्टोरी)

शराब का मजा हम दोनों को मदहोश कर रहा था.

कुछ देर बादहमारी हार्डकोर चुदाई शुरू हो गई और मैंने नंदिनी को हचक कर चोदा.
नंदिनी भी मुझसे चुदाई करवा कर बहुत खुश थी.

उस रात बारह बजे तक मैंने उसे चार बार चोदा और हम दोनों नंगे ही सो गये।
दोस्तों इसके बाद क्या हुआ? आपके मेल और कमेंट्स मिलने के बाद मैं तय करूंगा कि आगे की सेक्स कहानी बताऊं या नहीं.

कृपया मुझे मेल करके बताएं कि आपको यह गर्ल XXX स्टोरी कैसी लगी?

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasy.in” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga