स्कूल की गर्लफ्रेंड को चोदा क्लास में ही

स्कूल की गर्लफ्रेंड को चोदा क्लास में ही

मेरा नाम रोहित है. में दिल्ली से हूँ आज में आपको बताने जा रहा हु की कैसे मेने “स्कूल की गर्लफ्रेंड को चोदा क्लास में ही”

जब मैं 19 साल का था तो मुझे कृतिका (काल्पनिक नाम) नाम की लड़की से प्यार हो गया। कृतिका मेरी कोचिंग में पढ़ती थी. कृतिका का रंग गोरा था और उसकी लम्बाई करीब साढ़े पांच फुट थी.

उसके चूचों का साइज 32 इंच था और उसकी आंखें कटीली थीं. कृतिका को देख कर कोचिंग और मोहल्ले के लड़के मुट्ठ मार कर खुद को शांत कर लेते थे.

हमारी ये कोचिंग स्कूल में ही थी. स्कूल के बाद में शाम 03:00 बजे कोचिंग से घर के लिए चल देता था. मैं पढ़ाई में अच्छा हूँ.. मैं एक ऐसा लड़का हूँ जो हमेशा लड़कियों से दूरी बनाकर रखता है।

मुझे उसको देख कर न जाने ऐसा क्यों लगने लगता था कि इस लड़की को मुझे इन भूखे भेड़ियों की वासना से बचा लेना चाहिए. यही सोच कर मैं जब भी कोचिंग से घर के लिए निकलता था

तो कृतिका के पीछे पीछे कुछ दूरी बनाता हुआ उसे उसके घर तक पहुंचा कर ही अपने घर जाता था. मेरा एक दोस्त मेरी इस बात को समझता था. पहले तो उसने मेरी तरफ ध्यान नहीं दिया.

लेकिन जब कृतिका की जवानी की चर्चा दोस्तों के बीच होने लगती थी तो मैं परेशान हो जाता था. ये सब देख कर मेरे उस दोस्त को समझ आ गया कि मैं कृतिका को बहुत पसंद करता हूँ. (गर्लफ्रेंड को चोदा)

उन्होंने मुझसे कहा कि अगर तुम कृतिका को पसंद करते हो तो तुम उसे अपनी भावनाओं के बारे में क्यों नहीं बताते? लेकिन मैं ऐसा कह नहीं सका, शायद मेरी शर्मीलापन मुझे ऐसा करने देने में आड़े आ रहा था।

फिर एक दिन मेरे इसी दोस्त ने मुझे चैलेंज किया कि अगर तुम उस लड़की को किसी लड़के से बचाना चाहते हो तो उस लड़की को खुश करो. नहीं तो कोई न कोई उस कली को कुचल देगा.

मैंने कहा- ठीक है.. एक महीने में मैं उसे प्रपोज़ कर लूँगा। अब मेरे सामने ये चुनौती थी तो मैंने एक तरकीब सोची. मैं रोज की तरह कोचिंग के लिए आता-जाता था

लेकिन पढ़ाई के साथ-साथ मैं कृतिका को भी देखता रहता था। इस दौरान जब भी उसकी नजरें मुझसे मिलतीं तो मैं अपनी नजरें बोर्ड की ओर कर लेता। इस तरह देख कर कृतिका भी एक-दो बार मुस्कुराई

लेकिन मैंने उसकी तरफ से मुँह फेर लिया। अब भी कोचिंग के बाद जब अपने घर जाने लगता, तो उसे घर तक पहुंचा कर ही जाता ये बात उन्होंने नोट कर ली थी. इस बीच मैंने उससे कुछ नहीं कहा.

कृतिका भी समझ गई कि मैं उससे कुछ भी कहने से बचता हूँ। एक दिन की टेस्ट परीक्षा चल रही थी. मैंने सारे प्रश्न हल कर दिये। इस बीच जिसने भी मुझसे मदद मांगी मैंने सबकी मदद की।’

अचानक मेरी कलम की स्याही ख़त्म हो गई। मैं परेशान हो गया। मुझे परेशान देखकर मेरे एक दोस्त ने मुझसे पूछा- क्या हुआ? मैंने अपनी हथेली पर पेन चलाया और उससे कहा कि पेन की स्याही खत्म हो गई है।

जब मेरे दोस्त ने यह देखा तो उसने क्लास में जोर से चिल्लाते हुए कहा – भाई, अगर एक्स्ट्रा पेन लाए हो तो दे दो… रोहित का पेन काम नहीं कर रहा है.

कृतिका ने मुस्कुरा कर मेरी तरफ देखा और सबसे पहले अपने डिब्बे से एक पेन निकाला और मेरी तरफ बढ़ाया। फिर उन्होंने मुझे अपने उत्तरों से भी परिचित कराया कि उन्होंने सही लिखा है या नहीं।

यह देख कर मेरे दोस्त उसे और मुझे देख कर शोर मचाने लगे. हम दोनों चुपचाप ये सब सुनते और मुस्कुरा कर सबकी बातें टाल देते.

फिर 5 सितंबर आने वाला था. शिक्षक दिवस मनाने के लिए सभी ने चंदा इकट्ठा करना शुरू कर दिया। लड़कियों ने उपहारों की और लड़कों ने डेकोरेशन की जिम्मेदारी ली।

मैंने केक की जिम्मेदारी ली और तय किया कि मैं 5 सितंबर को 1 बजे कोचिंग क्लास में केक लाऊंगा और 2:30 बजे से सजावट के सामान लाने चलूंगा.

कृतिका को मेरी योजना का पता चल गया। 5 सितंबर को कृतिका एक बजे से ठीक पहले कोचिंग पहुंच गई. पांच मिनट बाद मैं भी पहुंच गया.

मैं कृतिका को देख कर हैरान हो गया. मैंने पूछा – इतनी जल्दी आ गये? उसी वक्त उन्होंने मुझे प्रपोज किया. मैं स्तब्ध था मैं निःशब्द था। मुझे चुप देख कर वो रोने लगी.

मैं कुछ कहता, उसने आगे बढ़ कर मेरे होंठों पर चूम लिया. जैसे ही उसने मुझे गले लगाया तो मुझे उसके कपड़ों का एहसास हुआ. उन्होंने शर्ट के नीचे कुछ भी नहीं पहना हुआ था.

मैं न जाने कब से कृतिका के साथ रहना चाहता था। उसके भरे हुए स्तनों ने मुझे बहुत गर्म कर दिया और बदले में मैंने उसे पूरी तरह से गले लगा लिया और उसे चूमना शुरू कर दिया।

मैंने उसे अपनी बांहों में कस कर पकड़ लिया. प्यार पाने के लिए उसकी आंखों से आंसू गिर रहे थे और मुझे भी उन्हें अपने सीने से चिपका कर एक अजीब सा सुकून मिल रहा था. (गर्लफ्रेंड को चोदा)

उसके मादक बदन की खुशबू मुझे एक अजीब दुनिया में ले गई थी. कुछ देर बाद हम अलग हो गये. मैं उसकी तरफ देखने लगा. वो भी मेरी आँखों में देखने लगी. फिर उसने शर्म से अपनी नजरें झुका लीं.

Visit Us:-

मैं हंसा तो वो भी हंस पड़ी. मैंने कहा – मुझे तुमसे कुछ कहना है. वो बोली – अभी भी कुछ कहना बाकी है? मैने हां कह दिया। वो मेरी तरफ देखने लगी.

आज मैं उसे पाना चाहता था इसलिए बिना कुछ कहे मैंने फिर से अपनी बांहें उसकी तरफ बढ़ा दीं। वह समझ गयी। उसने नजरें झुका कर कहा कि अभी एक घंटा है, इस एक घंटे में आपका जो भी जवाब हो, प्यार से बता देना.

यह कह कर उसने क्लास रूम बंद कर दिया और एक-एक करके अपनी शर्ट के बटन खोलकर मुझसे लिपट गयी। अब अगर शेर के सामने बकरी खड़ी कर दो तो उसका शिकार होना तय है.

मैंने भी सोचना बंद कर दिया और उसे गले लगा लिया. मैं उसे कस कर चूमने लगा. मेरे हाथों ने उसकी शर्ट उतार दी. उसने भी मेरी शर्ट उतार दी.

उसके निपल्स एकदम कसे हुए और गर्म थे. हम दोनों की साँसें बहुत गर्म हो गई थीं. उसने मेरी जींस उतार कर मुझे नंगा कर दिया. मैंने भी उसे पूरा नंगा कर दिया और हम दोनों एक दूसरे के नंगे बदन की आग को महसूस करने लगे.

इस वक्त हम दोनों सेक्स के नशे में थे. मैंने इधर-उधर देखा और दो ऊंची बेंचों को जोड़कर अपने लिए एक सेज बना लिया। मैंने उसे उस पर लिटा दिया. उसने भी लेट कर अपनी आंखें मूंद लीं।

मैं उसकी दोनों चुचियों को चूसने लगा और अपना हाथ चूत पर रख दिया. वो ‘आ आ आआ आऊऊऊ ऊऊऊऊ आउच..’ कर रही थी.

उसने अपनी टांगें फैला दीं और बोलीं- रोहित, अब जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो.. मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

मैंने उसके दोनों पैरों को पूरा फैला दिया और उसकी चूत को देखने लगा. उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे और उसकी चूत गुलाब की पंखुड़ियों की तरह गुलाबी थी.

मैंने चुदाई करना कुछ पोर्न फिल्मों से सीखा था. बस यही सब याद करके मैंने अपनी जीभ सीधे उसकी चूत पर रख दी.

कृतिका इस समय गर्म हो चुकी थी। उसने अपनी आँखें खोलीं और विनती भरे स्वर में बोली कि रोहित अब ये सब छोड़ो.. पहले जल्दी से अन्दर डालो.. नहीं तो लंड खा जाऊँगी। (गर्लफ्रेंड को चोदा)

लेकिन मैं तो उसकी चूत चूसने में मस्त था. उसकी चूत की आग बहुत बढ़ गयी थी. उसने अपने दोनों पैरों और हाथों से मेरे सिर को अपनी चूत में दबा लिया और ‘ऊऊऊ येस्स्स…सीसीई’ जैसी मादक आवाजें निकालने लगी।

वो तेज आवाज करते हुए झड़ने लगी और फिर ढीली पड़ने लगी. एक मिनट के लिए ऐसा लगा मानो तूफ़ान थम गया हो। अचानक कृतिका उठी और मेरे लंड को मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

अब मैं ‘आहा आहा..’ की आवाज निकालने लगा. एक मिनट बाद मैंने कृतिका के मुँह से लंड खींच लिया और उसकी चूत फाड़ने के लिए तैयार हो गया.

उस वक्त मैं पूरे जोश में था. मैंने कृतिका को ऊँची बेंच पर लिटा दिया और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा। कृतिका फिर से गरम हो गयी थी. उसने खुद ही लंड को चूत पर सैट कर दिया. उसकी चूत सीलबंद थी.

वो बोली रोहित मेरा पहली बार है … प्लीज धीरे-धीरे मेरी चूत मारो … मुझे दर्द होगा, लेकिन तुम छोड़ना मत. मैं ठहरा अनाड़ी … पहले ही झटके में 3 इंच लंड उसकी चूत में डाल दिया.

कृतिका की चूत से खून आने लगा. वो दर्द से छटपटाने लगी. मैंने उसे कस कर गले लगा लिया और चूमने लगा. उसकी आंखों से आंसू आ रहे थे, वो कांप रही थी. जैसे ही उसके शरीर का कंपन बंद हुआ

मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. मेरा 7 इंच का लंड चुत को फाड़ता हुआ चुत में गायब हो गया. कृतिका ने मुझे कस कर पकड़ लिया और दबी हुई आवाज में चिल्लाई- उई मम्मी… मर गई!

मैं उसे चूमता रहा. उसके चूचों को चूसता रहा और धीरे-धीरे उसे चोदने लगा. अब कृतिका को भी मजा आने लगा. वो भी उत्तेजित हो गयी और ‘आह आह आउच ओह आह..’ की आवाज निकलने लगी.

आह और जोर से… मेरे रोहित..’ मैं भी पूरी ताकत से उसे चोदने लगा. कुछ मिनट बाद वो मुझे पकड़ कर झड़ चुकी थी. मैंने भी देर न करते हुए जोर जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए. मैं भी झड़ने वाला था.

मैंने उससे पूछा तो बोली – मुझे पहली बार कोई पसंद आया है … आज तो चूत का उद्घाटन हुआ है … तुम अन्दर डालो. मैंने 20 धक्के मारकर कृतिका को जकड़ लिया. कृतिका ने भी मुझे पकड़ लिया और हम दोनों झड़ने लगे.

कृतिका की आँखों में ख़ुशी थी. हमने एक-दूसरे को जमकर चूमा और अलग होकर कपड़े पहने। फिर मैंने उससे पूछा – और तुम्हें क्या पसंद आया.. मेरा मतलब अभी दस मिनट पहले।

वो हंस पड़ी और बोली- तुमने मुझे बहुत अच्छे से चोदा है.. जब चाहो बोल लेना, लेकिन मुझे पता है तुम अब भी नहीं बोल पाओगे। मैंने उसे फिर से चूमा. वो बोली- रोहित, ये बात हम दोनों के बीच ही रहनी चाहिए. मैंने कहा- ठीक है. (गर्लफ्रेंड को चोदा)

अब तक 2:30 बज चुके थे. मैंने उससे केक देखने को कहा और सजावट का सामान खरीदने चला गया। अब हम दोनों जब भी मिलते तो मुस्कुरा देते थे. हालांकि मेरी मोहब्बत परवान तो चढ़ी, लेकिन अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच पाई. उन्होंने शादी कर ली और उनके बच्चे भी हो गए.

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga