पड़ोस की लड़की की मालिश – हॉट नेबर गर्ल सेक्स स्टोरी भाग-1

पड़ोस की लड़की की मालिश – हॉट नेबर गर्ल सेक्स स्टोरी भाग-1

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “पड़ोस की लड़की की मालिश – हॉट नेबर गर्ल सेक्स स्टोरी भाग-1”। यह कहानी यश की है आगे की कहानी वह आपको खुद बताएँगे मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

हॉट नेबर गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मुझे मसाज करना आता है. एक बार एक पड़ोसी आंटी मुझे अपने घर ले गईं, उनकी छोटी बेटी के पैर में मोच आ गई थी। मैं खुश था।

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम यश है.
मेरी हाइट 5 फीट 10 इंच है. मेरा रंग सांवला है और खेल-कूद और व्यायाम आदि करने के कारण मेरा शरीर काफी गठीला है।
मेरी उम्र तीस वर्ष है।

मैं दिल्ली में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता हूं.
कोरोना के कारण मुझे अपना काम छोड़कर अपने घर कानपूर आना पड़ा।

लॉकडाउन के कारण मुझे कहीं जाने का मौका नहीं मिला, मैं घर पर ही रहा.
हम किसी जरूरी काम से ही बाहर जा सकते थे।
चारों तरफ पुलिस का सख्त पहरा था.

एक महीना बीत चुका था, जिंदगी काफी बोरिंग हो गई थी.
न तो कोई जवान लड़की दिख रही थी और न ही कोई हॉट भाभी.

बस लंड हिलाते हुए जिंदगी कट रही थी.
इसी बीच मेरे मोहल्ले में एक बूढ़ी माँ की कोरोना से मृत्यु हो गयी।

इस घटना से पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया.

मैं बहुत दुखी था क्योंकि अम्मा ने मेरी बहुत सेवा की थी.
खेलते समय जब भी मुझे मांसपेशियों में खिंचाव होता तो मैं उसी अम्मा के पास चला जाता।
अम्मा बहुत अच्छी मालिश करतीं. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

लगभग पूरा शहर उन्हें मसाज के लिए जानता था.
खैर… जो भी हो, अम्मा जाते-जाते मुझे अपनी कुछ खूबियाँ दे गई थीं।

अम्मा से मालिश करवाकर मैंने भी मालिश के कुछ गुण सीख लिये।
यह हॉट नेबर गर्ल सेक्स स्टोरी भी इसी गुण के कारण बनाई गई।

एक दिन मेरे दोस्त के शरीर में कुछ खिंचाव हुआ तो वह मेरे पास आया।
मैंने उसकी अच्छे से मालिश की और दो-चार दिन बाद वह ठीक हो गया।

मोहल्ले में यह बात फैल गई थी कि यश अच्छी भी मसाज करता है.

अब अम्मा के निधन के बाद धीरे-धीरे और भी लोग आने लगे।
मुझे दूसरों की मालिश करने का बिल्कुल भी मन नहीं करता, लेकिन क्या करूं, अम्मा तो रहीं नहीं और लॉकडाउन में मेरे अलावा किसी के पास कोई विकल्प नहीं था।

दिन बीतते गए और ऐसा ही चलता रहा.

फिर एक दिन ऐसा आया जब इसी हुनर की वजह से मेरी किस्मत बदल गई.

उस दिन सुबह-सुबह मोहल्ले की एक आंटी मेरे घर आईं.
वह मेरी मां से कुछ बात कर रही थी.

उसकी बातों से लग रहा था कि वह बहुत दुखी है.

तभी मैं वहां पहुंच गया.
उन्होंने मुझे बताया- मेरी बेटी रिया के पैर में कल रात से मोच आ रही है. पूरी रात ठीक से सो नहीं सकी. बेटा, क्या तुम घर आकर उसे देख सकते हो? (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

आंटी की बात सुनकर मैं मना नहीं कर सका और उनके साथ चला गया.

उसका घर ज्यादा दूर नहीं था इसलिए हम पैदल ही चल पड़े.

जाते समय मेरे मन में यही ख्याल आ रहा था कि Riya कितनी बड़ी हो गयी होगी.
मैंने उसे कई वर्षों से नहीं देखा है।
बचपन में वह बहुत क्यूट दिखती थीं, अब कैसी होंगी?

मैंने आंटी से पूछा- आंटी, रिया क्या करती है?
आंटी- रिया अभी 12वीं क्लास में है.

मैं मन में सोचने लगा कि वाह, मतलब रिया जवान हो गयी है.
वैसे भी लड़कियाँ जल्दी जवान हो जाती हैं.

उसके बूब्स कितने बड़े हो गये होंगे.
कैसी चूत होगी उसकी चूत में कितने घने बाल उगे होंगे.

क्या उसने कोई बॉयफ्रेंड बनाया होगा, क्या उसने कभी सेक्स किया होगा?
हो सकता है ऐसा किया हो या फिर अभी भी वर्जिन हो.

आंटी से बात करते-करते और रिया के बारे में सोचते-सोचते कब रिया का घर आ गया, मुझे पता ही नहीं चला।
रिया अपने कमरे में लेटी हुई थी. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

आंटी रिया का कमरा दिखाते हुए आईं.
रिया बिस्तर पर लेटी हुई थी.

जैसे ही मैं कमरे में दाखिल हुआ तो मेरी नजर सीधे रिया के Big Boobs पर गई और मेरी नजरें रिया की मदमस्त जवानी का जायजा लेने लगीं. उसने सफेद टी-शर्ट पहन रखी थी, जिसके ऊपर से उसके उभरे हुए मम्मे दिख रहे थे.

उसकी चर्बी रहित पतली कमर, पतली बाँहें और टाँगें, Moti Gand… मतलब यह कि रिया ने अपनी जवानी पूरी तरह से खिला ली थी।

मैं रिया के पास जाकर उसके बिस्तर पर बैठ गया और उससे पूछा- चोट कहां लगी है?
उन्होंने कहा- बाएं पैर में घुटने के नीचे.

मैंने आंटी से कहा- अगर आपके पास सरसों का तेल है तो गर्म करके ले आओ.. नहीं तो कोई भी तेल चलेगा। बस गर्म करके लाओ. आंटी तेल लेने चली गयी.

इधर मैंने रिया से कहा- मुझे मोच वाली जगह दिखाओ!
उसने काले रंग का लोअर पहना हुआ था. उसने लोअर को नीचे से घुटनों के ऊपर तक खींच लिया.

हाय, उसकी क्या टांगें चिकनी थीं.
मैंने पैर को हाथ में लिया और धीरे से दबाकर उसकी चोट का निरीक्षण किया।

इतने में आंटी तेल लेकर आ गईं. रिया सीधी लेटी हुई थी. मैंने अपने हाथों में तेल लिया और रिया के पैरों पर ऊपर से नीचे तक उसके पैरों के तलवों तक लगाया। (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

सच में बहुत चिकने पैर थे उसके… बिल्कुल मखमली।

जवान लड़की के स्पर्श से मेरा लंड आकार लेने लगा था.
आख़िरकार कई महीनों के बाद मुझे एक जवान लड़की के शरीर को छूने का मौका मिल गया।
बहुत मजा आ रहा था.

एक तरफ धैर्य रखना जरूरी था क्योंकि आंटी भी मेरे बगल में बैठ कर मसाज देख रही थीं.
अगर आंटी ने खड़ा लंड देख लिया होता तो कांड हो जाता.

कुछ देर तक सीधे मालिश करने के बाद मैंने रिया को उल्टा होने को कहा और उसके पैर के दूसरी तरफ भी मालिश की.

रिया की नज़र दूसरी तरफ थी, शायद उसे दर्द हो रहा था।
आंटी यह सब बड़े ध्यान से देख रही थी जैसे मैं उनकी बेटी को खा जाऊँगा।

इस तरह मसाज ख़त्म हुई.
आंटी बोलीं- रिया कब ठीक होगी?

वैसे तो दो-तीन दिन की मालिश ही काफी है, लेकिन मैंने पांच-छह दिन बता दिये।

घर आने के बाद मैं रिया के बारे में ही सोचता रहा कि उसे किसी भी तरह उसकी Chut Chudai करनी है. ऐसी जवान लड़की बड़े भाग्य से ही मिलती है.

आख़िर इतने दिन बीत गए थे और मुझे सेक्स करने का मौका नहीं मिल रहा था. पहले तो मैं इतना चोदता था, लेकिन जब से लॉकडाउन हुआ है.. तो मानो मेरा लंड खड़ा होना ही भूल गया है।

अब किसी भी तरह इस तेल मसाज को सेक्स मसाज में बदलना होगा. जब मैं नहाने गया तो मैंने रिया के बारे में सोच कर लगातार दो बार हस्तमैथुन किया, तब जाकर मुझे राहत मिली.

उसके बाद तो मैं दिन भर बस तेल मालिश वाली पोर्न फिल्में देखता रहा और कल्पना करता रहा कि रिया मेरे साथ लेटी हुई है और सेक्स कर रही है. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

शाम को मैं फिर रिया की मालिश करने गया. सुबह की तरह मैंने रिया की मालिश करना शुरू किया, मुझे बहुत मजा आ रहा था. उस वक्त और भी मजा आ सकता था अगर आंटी मेरे बगल में न बैठी होतीं.

इस बार भी मैं सेक्स अपील तरीके से नहीं छू सका, बस सामान्य मालिश की और चला गया।
यह सिलसिला अगले दो दिनों तक जारी रहा.

मैं मन ही मन सोचता था कि अगर मैं ऐसे ही चलता रहा तो कुछ नहीं होगा. रिया भी ठीक हो जायेगी और मैं बस हिलता रहूँगा. कुछ तो किया जाना चाहिए।

चौथे दिन सुबह फिर मसाज के लिए गया और घंटी बजाई.
आंटी ने दरवाज़ा खोला.

मैंने दरवाजे पर ही पूछा- रिया की तबीयत कैसी है?
उन्होंने बताया कि रिया कह रही हैं कि दर्द बिल्कुल भी कम नहीं हुआ है.

मुझे संदेह हुआ कि कुछ गड़बड़ है. वरना इतनी मालिश से ही ज्यादातर लोग ठीक हो जाते हैं. लेकिन रिया का दर्द कम क्यों नहीं हुआ? हर दिन की तरह आज भी आंटी तेल लेकर आईं और वहां से चली गईं.

वह अपने काम में व्यस्त हो गयी.
शायद अब उन्हें मुझ पर भरोसा हो गया था कि लड़का उनकी बेटी के साथ कुछ गलत नहीं करेगा.

अब मेरी भी आंटी से घुलने-मिलने लगी.
जब भी मैं मसाज के लिए आता तो आंटी मुझे चाय पिलातीं और हम खूब इधर-उधर की बातें करते।

उस दिन रिया और मैं कमरे में थे.
मैंने रिया से पूछा- दर्द कैसा है?
उन्होंने कहा- दर्द कम नहीं हो रहा है.

फिर मैंने दर्द वाली जगह को हाथ से थोड़ा दबा कर चेक किया.
सब कुछ ठीक लग रहा था.

मैंने रिया की आँखों में देखते हुए कहा- सब कुछ तो ठीक लग रहा है, फिर तुम्हारा दर्द अभी तक दूर कैसे नहीं हुआ?
मेरी यह बात सुनकर उसने अपनी नजरें फेर लीं. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

मैंने फिर कहा- अगर तुम खुल कर नहीं बताओगी तो इलाज कैसे हो पायेगा?
उन्होंने कहा- दर्द घुटने के नीचे नहीं, घुटने के ऊपर है!
मैंने कहा- तो फिर तुमने मुझे पहले क्यों नहीं बताया?

उन्होंने कहा- मां बैठी थीं और मुझे अपनी जांघें दिखाने में थोड़ी शर्म आ रही थी.

मैंने उसे थोड़ा प्रोत्साहित किया और कहा- शर्म करोगी तो दर्द कैसे दूर होगा… और फिर जांघ ही तो है, ज्यादा अन्दरूनी चोट तो नहीं है.

वो समझ गयी कि मैं चूत की बात कर रहा हूँ. वह कुछ नहीं बोली।

उस दिन मैंने हल्की मालिश करके काम ख़त्म कर दिया।

घर आकर मैं मन ही मन बहुत खुश हुआ कि अब मुझे रिया की जांघ छूने का मौका मिलेगा.
मतलब जवानी का आनंद लेने के एक कदम और करीब.

तभी मेरे मन में विचार आया कि जब रिया के घुटनों के ऊपर दर्द था तो जब मैं उसके घुटनों के नीचे मालिश कर रहा था तो रिया अपना चेहरा दूसरी ओर करके बेडशीट क्यों पकड़ रही थी।
क्या उसने जोश में आकर ऐसा किया?

उसे कभी किसी मर्द ने नहीं छुआ होगा, इसलिए वो खुद पर काबू नहीं रख पाती होगी.
आख़िर वह एक खिलती हुई जवान लड़की थी, किसी पुरुष के स्पर्श को कैसे रोक सकती थी?

उस शाम रिया कमाल लग रही थी, उसने आज हल्के गुलाबी रंग की शॉर्ट्स पहनी हुई थी।
आज उसके हॉट और सेक्सी पैर मुझे और भी ज्यादा उत्तेजित कर रहे थे.
आंटी गर्म तेल लेकर आईं और वहां से चली गईं.

आज फिर मौका था मसाज करके रिया के हाव-भाव परखने का.

जैसे ही मैंने रिया की जांघ को छुआ, रिया सिहर उठी. मैंने उसकी जांघ पर अच्छे से तेल लगाया और हल्के हाथों से मालिश करने लगा. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

एक तो दर्द ऊपर से मेरा सेक्स अपील वाला स्पर्श.

मैंने सेक्सी मसाज करना जारी रखा.
कभी-कभी मैं अपना हाथ रिया के शॉर्ट्स के अंदर ले जाता था.
रिया की आंखें बंद थीं.

जब भी मैं अपने हाथ रिया के शॉर्ट्स के अंदर उसकी ऊपरी जांघ तक ले जाता तो वह गहरी सांस लेती और अपने होंठों को अपने दांतों से काट लेती।

मैं ये सब बहुत ध्यान से देख रहा था.
मुझे रिया को रोमांचक मसाज देने में बहुत मजा आ रहा था.
मेरा मन तो कर रहा था कि अभी चोद दूँ.. लेकिन आंटी भी घर पर थीं इसलिए कुछ नहीं किया।

रिया के मन में वासना की एक चिंगारी थी जो उसके चेहरे पर साफ दिख रही थी.
आधे घंटे बाद मसाज ख़त्म हो गई.

मैंने रिया से उसका हालचाल जानने के लिए उसका मोबाइल नंबर मांगा.
तो उसने कहा- मेरे पास मोबाइल नहीं है.
फिर उसने अपनी मां का नंबर दिया.

मसाज के बाद मैंने थोड़ा फ्रेंडली होने के लिए बातें शुरू कीं, हमने अच्छे माहौल में बातें कीं। मैंने रिया से स्कूल, क्लास के दोस्तों और घर के बारे में पूछा.. फिर अपने घर आ गया।

रात को करीब 12 बजे जब मैं सोने जा रहा था तो आंटी के नंबर से मैसेज आया- हेलो.
मैंने उत्तर दिया- हाय आंटी! उधर से जवाब आया- मैं रिया हूँ!

अरे वाह…लड़की खुद मैसेज कर रही है. ये सोच कर मुझे गुदगुदी होने लगी.

मैंने कहा- हाय रिया, अभी तक सोई नहीं?
वो बोली- मैं तो दिन में सोती रहती हूँ.. रात को नींद कैसे आएगी?
मैंने कहा हम्म.

उसने कहा- अगर मैंने आपको डिस्टर्ब किया तो सॉरी!
मैंने कहा- कोई बात नहीं… और बताओ रिया… तुम्हें कैसा लग रहा है?

वो बोली- बहुत अच्छा, लेकिन अभी भी थोड़ा दर्द है.
मैंने कहा- कोई बात नहीं, तुम जल्दी ही ठीक हो जाओगी.

वह कुछ नहीं बोली।
मैं- रिया, अपने बारे में कुछ बताओ.

वह तुरन्त ही बड़े प्रेम से अपने बारे में सब कुछ बताने लगी। मुझे ऐसा लग रहा था कि वो खुद ही सब कुछ बताने के मूड में है. मैं भी उसे टटोलने लगा और उससे गहराई से पूछने लगा. कुछ ही समय में वह मुझसे काफी ज्यादा खुल गयी थी.

मैं: आज आपका दिन कैसा रहा?
रिया- मसाज के अलावा पूरा दिन बोरिंग था.

मैं: क्यों, मसाज में ऐसा क्या था जो तुम्हें इतना पसंद आया?
रिया- पता नहीं, जब तुम मालिश कर रहे थे तो बहुत अच्छा लग रहा था. ऐसा लग रहा था मानो ये मसाज कभी ख़त्म ही नहीं हो. मैं बस लेटी रहूँ और तुम मालिश करते रहो.

रिया की ये सब बातें सुनकर मुझे मन ही मन बहुत ख़ुशी हुई कि लड़की वासना के जाल में फंसती जा रही है।

मैं- अच्छा कल तैयार रहना, कल मैं तुम्हारी अच्छे से मालिश करूँगा!
रिया- ठीक है. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

मैं: आपके माता-पिता क्या करते हैं और हाँ, आपके पिता को अभी तक नहीं देखा!

रिया- मम्मी सुबह घर का काम करती हैं, फिर आपके जाने के बाद मार्केट चली जाती हैं. वह एक-दो घंटे में बाजार से वापस आती है और खाना बनाती है.

फिर वह पूरा दिन टीवी देखती है. शाम को आपके जाने के बाद खाना बनाकर खाती है और सो जाती है. पापा दूसरे शहर में हैं, उनकी वहां ड्यूटी है.

पूछने पर पता चला कि उस के पिता पुलिस में थे.

मैं- तो अभी आप क्या कर रहे थे?
रिया- बस एक दोस्त से चैट कर रही थी.

मैंने जानने की इच्छा से चुटकी लेते हुए पूछा- किससे… दोस्त या बॉयफ्रेंड?

रिया थोड़ा इठलाते हुए बोली- मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है, ठीक है.. मैं इन सब में नहीं पड़ती।
मैं हँसा।

रिया- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?
मुझे नहीं।

रिया- झूठ मत बोलो, तुम इतने हैंडसम हो, कैसे नहीं होगे?
मैं था, लेकिन ब्रेकअप हो गया. मैं अभी भी सिंगल हूं।

इस तरह मैं अपनी प्रेम कहानी बताने लगा.
हम कुछ ज्यादा ही मिलनसार हो गए थे.

वो मुझसे एक-एक करके सब कुछ जानना चाहती थी, इसलिए मैंने उसे कॉल पर ही अपनी गर्लफ्रेंड के साथ हुई वासना की कहानी सुनानी शुरू कर दी. (हॉट नेबर गर्ल सेक्स)

मैंने कहा- आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी?
उसने कुछ नहीं कहा।

फिर मैंने कई बार हेलो-हेलो रिया… रिया हेलो… कहा।
लेकिन शायद वो सो गयी थी या सोने का नाटक कर रही थी. मुझे नहीं पता कि उसने मेरी सेक्स कहानी सुनी या नहीं.

दोस्तो, कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि रिया की Tight Chut की चुदाई कैसे हुई.

आपको मेरी हॉट नेबर गर्ल सेक्स स्टोरीकैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएं।

कहानी अभी बाकी है मेरे दोस्त अगला भाग पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे।

कहानी का अगला भाग: नेबर गर्ल सेक्स स्टोरी

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga