पड़ोस में रहने आयी सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा

पड़ोस में रहने आयी सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा

हेलो दोस्तों मैं सोफिया खान हूं, आज मैं एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आ गई हूं जिसका नाम है “पड़ोस में रहने आयी सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा”। यह कहानी धीरज की है, वह आपको अपनी कहानी बताएंगे, मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगी।

सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा का मजा मुझे तब मिला जब हम नई कॉलोनी में शिफ्ट हुए। वहां मेरी दोस्ती एक पंजाबी भाभी से हो गयी. मैंने उन्हें कैसे चोदा, पढ़ें और आनंद लें।

दोस्तो, आज मैं आपको अपने पहले सम्भोग के बारे में बताऊंगा कि कैसे मुझे पड़ोसन भाभी के साथ सम्भोग करने का मौका मिला और मुझे अपने पहले सम्भोग में क्या आनन्द मिला।

कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ.
मेरा नाम धीरज है और मैं Udaipur का रहने वाला हूँ।

ये कहानी 2 साल पहले शुरू हुई थी.

उस समय हमने नया घर खरीदा था और जिस कॉलोनी में हमने नया घर खरीदा था वह कॉलोनी पूरी तरह से खाली थी।
उस समय वहां बहुत कम लोग रहते थे.

मैं वहां अकेले बोर हो जाता था और सोचता रहता था कि मैंने यह कैसी जगह घर ले लिया है, जहां कुछ भी नहीं है.

तभी अचानक कुछ ऐसा हुआ, जिसने मेरी सोच बदल दी.
हुआ यूं कि हमारे पास एक खाली प्लॉट था, जिसे पंजाब के एक आदमी ने खरीद लिया था.
वहां घर बनाने का काम शुरू होना था.

उन्होंने प्लॉट पर काम शुरू होने से लेकर खत्म होने तक वहां एक मकान किराये पर ले लिया और उस मकान में रहने लगे.

उस परिवार में तीन सदस्य थे. भाई का नाम हन्नी और भाभी का नाम आशिका था. उनका एक छह साल का बच्चा अंकित भी था। पंजाबी भाभी की उम्र करीब 32 साल होगी और उनका फिगर 34-28-38 था.

आशिका भाभी के बारे में मैं क्या बताऊँ, उनके बारे में जितना कहूँ उतना कम है।
वह सुंदरता की देवी थी, उसे देखकर कोई भी पागल हो सकता था।
जिस दिन मैंने उसे पहली बार देखा, उसी दिन से मैं उसके बारे में ही सोचने लगा।

मैं दिन-रात बस सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा के सपने देखता रहता और कब अपना लंड हिलाकर सो जाता, पता ही नहीं चलता। (सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा)

उस दिन भी ऐसा ही हुआ.
दोपहर का खाना खाने के बाद मैं भाभी के सपने देखते हुए अपना लंड हिलाने लगा और सो गया.

शाम को जब मैं उठा तो आशिका भाभी हमारे घर आई हुई थीं, वो मेरी मां से बात कर रही थीं.

उसे इस तरह अपने घर आते देख मैं हैरान रह गया और विश्वास नहीं कर सका कि यह सपना था या हकीकत.

बाद में माँ ने मुझे बताया कि ये लोग पास में एक घर बना रहे हैं और Ashika जी मुझसे बात करने आई हैं कि अगर उन्हें किसी चीज़ की ज़रूरत हो तो हमें उनकी मदद करनी चाहिए।
भाभी ये सब सुन रही थी और मेरी तरफ देख रही थी.

मां की बात सुन कर मैंने तुरंत कहा- हां बिल्कुल भाभी जी, अगर आपको कभी भी किसी चीज की जरूरत हो तो बिना किसी झिझक के मुझे बता देना.
भाभी ने मुस्कुरा कर धन्यवाद कहा.
उसकी मुस्कान देख कर मेरा दिल खिल उठा.

फिर उसने हमारे पास ही अपना नया घर बनाया.
घर बनाने में काफी समय लगा. (सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा)
उस दौरान भाभी अक्सर हमारे घर आती थीं और जब दिन में घर का काम चलता था तो वो पूरा दिन हमारे घर पर ही रहती थीं.

उनका बेटा अंकित मेरे साथ खेलता था और भाभी से भी अच्छी दोस्ती हो गयी थी.
हम दोनों एक दूसरे से हर बात शेयर करते थे.

फिर घटना तब घटित हुई जब मेरे माता-पिता मेरी नानी के घर गये थे और मैं घर पर अकेला था और अपनी भाभी को याद कर रहा था और एक मस्त ब्लू फिल्म देख रहा था।
तभी दरवाजे की घंटी बजी.

मैंने पूछा- कौन?
उधर से आशिका भाभी की आवाज आई- मैं हूं.

मैंने कहा- हां भाभी अन्दर आ जाओ.
जब वो आई तो बोली- हमारा टीवी नहीं चल रहा है, देख लो.

मैं उसके घर गया तो पता चला कि उसका रिचार्ज खत्म हो गया है.
मैंने उनसे कहा कि मैं इसे रिचार्ज कर दूंगा.

मुझे याद आया कि मैं अपना मोबाइल अपने कमरे में ही छोड़ आया हूँ।
मैंने भाभी से कहा कि प्लीज़ ले आओ. (सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा)

जब मैं ब्लू फिल्म देख रहा था तो मैंने भाभी के आने तक फिल्म बंद नहीं की.
शायद ये जल्दबाजी में हुआ.

मैं अपने मोबाइल में कोई लॉक पासवर्ड या पैटर्न नहीं रखता.

जब भाभी मेरा मोबाइल लेने गईं तो उन्हें वापस आने में थोड़ा समय लग गया.

जब वह आई तो उसके चेहरे पर एक अजीब सी मुस्कान थी.
शायद उसने फिल्म देखी थी.

वो मुझे मोबाइल देते हुए बोली- धीरज जी, आप तो छुपे रूस्तम निकले!
मैंने पूछा- क्या हुआ भाभी?

मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसने मेरे मोबाइल में कुछ खास देखा है.
मैं समझ गया कि भाभी को सेक्स मूवी का मजा आ गया है.

मैंने शरमाते हुए कहा- अरे भाभी, वो तो ऐसे ही! (सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा)
भाभी ने अचानक पूछा- तुम अपनी गर्लफ्रेंड को याद करके देख रहे थे ना?

यह सुनकर मैं एकदम से चौंक गया और हकलाते हुए बोला- नहीं.. नहीं.. नहीं भाभी जी.. ऐसा कुछ नहीं है.
अब मैं उससे नजर नहीं मिला पा रहा था.

भाभी बोलीं- अरे यार, शरमाओ मत, कोई बात नहीं, इस उम्र में ऐसा हो जाता है.
फिर उसने पूछा- क्या तुम अपनी गर्लफ्रेंड से मिलते हो?
मैंने कहा- भाभी, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो मैं किससे मिलूंगा?

भाभी बोलीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड क्यों नहीं है?
मैंने कहा कि मुझे अभी तक कोई मिली ही नहीं.
भाभी बोलीं- क्या मैं आपकी मदद कर सकती हूँ? बताओ तुम्हे कैसी चाहिए? (सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा)

मैंने सीधे कहा कि भाभी आपके जैसी होनी चाहिए.
भाभी हंस कर बोलीं- मेरे जैसी क्यों … मुझमें ऐसी क्या खास बात है?

मैंने कहा- भाभी, ऐसा क्या है आप में? यह तो मैं ही जानता हूं.
इस पर भाभी बोलीं- मतलब?

मैंने कहा- भाभी, आप बहुत सेक्सी हैं … और जब से आप यहां रहने आई हैं, तब से मैं आपको पसंद करता हूं. लेकिन मैं तुमसे बात करने से डरता था.
वो भी अपने होंठ काटते हुए बोली- मैं भी तुम्हें बहुत पसंद करती हूं.

यह सुन कर पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मैं अचानक भाभी से लिपट गया और उन्हें चूमने लगा.
शायद वो मेरी अचानक हुई हरकत के लिए तैयार नहीं थी इसलिए चौंक गयी.

फिर धीरे-धीरे वो भी मुझे चूमने लगी और हम दस मिनट तक एक-दूसरे के होंठ चूसते रहे।
उनके बेटे के स्कूल से लौटने का समय हो गया था तो भाभी ने मुझे बताया.
भारी मन से मैं अपनी भाभी से अलग हो गया.

तब भाभी ने फ़्लर्ट करते हुए कहा- आज तुम्हारे भैया किसी काम से दिल्ली गए हैं, इसलिए रात को मेरे घर आ जाना और खाना यहीं खा लेना.
मैंने कहा- और क्या मुझे रात को यहीं सोना है?
भाभी ने आंखें दबाते हुए कहा- मैं तुम्हें सोने का निमंत्रण नहीं दे रही हूं.

तो मैं समझ गया कि सेक्सी पंजाबी भाभी मुझे Chut Chudai के लिए बुला रही है.

मैंने घर आकर अपने लिंग को हाथ से शांत किया और ख़ुशी से सो गया।
जब रात को जागना हो तो सोना ही बेहतर था.

रात को जब मैं भाभी के घर गया तो भाभी का बेटा अंकित सो चुका था।
भाभी टीवी देख रही थी और उन्होंने काले रंग की मैक्सी पहन रखी थी जिसमें वो कामदेवी लग रही थीं.

हम दोनों ने साथ में खाना खाया और कमरे में आ गये.
कमरे में घुसते ही मैंने भाभी को पकड़ लिया और चूमने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी.

कुछ मिनट तक किस करने के बाद मैंने भाभी को बेड पर सीधा लेटा दिया और उनके ऊपर चढ़कर उन्हें किस करने लगा.

मैंने धीरे से भाभी की मैक्सी उतार दी.
अब भाभी का गोरा बदन मेरे सामने था, लाल रंग की ब्रा पैंटी में भाभी क़यामत लग रही थीं।

मैंने भाभी के मम्मों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे उनके पेट से नीचे आते हुए उनकी नाभि में अपनी जीभ फिराने लगा।
पूरे कमरे में भाभी की कराहें जोर-जोर से गूंजने लगीं- आह्ह धीरज… और चूसो मेरे Big Boobs को!

फिर मैंने अपना हाथ उसकी पैंटी के अंदर डाला और महसूस किया कि वो अंदर से गीली थी.

मैंने झट से अपनी उंगली भाभी की Tight Chut में डाल दी.
चूत गीली होने के कारण उंगली झट से चिकनी चूत में घुस गयी.
भाभी के मुँह से आह निकल गई.

फिर मैंने भाभी की पैंटी उतार दी और उनकी टांगों के बीच आ गया और उनकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा.

ये मेरा पहली बार था इसलिए उसकी चूत की भीनी भीनी खुशबू मुझे मदहोश कर रही थी.
चूत का स्वाद नमकीन सा लग रहा था.

फिर भाभी ने मुझे अलग किया और मेरे कपड़े उतार दिये.
मेरा 6 इंच का लंड देख कर वो पागल हो गयी.
उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

फिर हम 69 पोजीशन में आ गये और लंड और चूत की चुसाई का मजा लेने लगे.

इस बीच भाभी एक बार ओर्गास्म हो चुकी थी.
मैं उसकी चूत चाटता रहा तो वो फिर से चार्ज हो गयी.

भाभी बोलीं- अब जल्दी से मेरी चूत में अपना लंड डालो. (सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा)

मैंने बिना समय बर्बाद किये उसकी दोनों टांगें खोलीं और अपना लंड उसकी चूत के मुहाने पर रख दिया.

कुछ देर तक मैंने अपने लंड का सुपारा भाभी की चूत की फांकों में रगड़ा और भाभी से नजरें मिलायीं.

भाभी की आँखों में सेक्स का नशा साफ़ दिख रहा था.

मैंने आँखें दबायीं और हल्का सा धक्का दिया।
मेरा आधा लंड अन्दर चला गया.

भाभी एकदम से चिल्ला उठीं- आह मर गई आह!
जब मैंने पहली बार अपना लंड चूत में डाला तो मुझे ऐसा लगा जैसे मैंने किसी गर्म भट्टी में अपना लंड डाल दिया हो.

कुछ देर तक मैं धीरे धीरे झटके देता रहा, फिर तेज चुदाई का खेल शुरू हो गया.

करीब दस मिनट में मेरा रस निकलने वाला था.
मुझे पता ही नहीं चला, अचानक सारा वीर्य भाभी की चूत में निकल गया और मैं उनके ऊपर ही लेट गया.

मैं उसे चूमने लगा, उसकी जीभ चूसने लगा.

कुछ देर बाद भाभी बाथरूम में गईं और अपनी चूत साफ करके वापस आईं.
मैंने भाभी को फिर से चूमना शुरू कर दिया और उनकी चूत को सहलाने लगा.

मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और फिर से चुदाई शुरू हो गयी.
उस रात हमने दो बार और सेक्स किया.

उसके बाद मैं बीच-बीच में भाभी को चोदने लगा.
जैसे-जैसे भाई का काम बढ़ता गया, वह जब-तब शहर से बाहर रहने लगा।
अंकित भी अधिक समय के लिए स्कूल जाने लगा।

इसलिए मैंने ऐसा सिस्टम बना लिया था कि अंकित के स्कूल जाने के बाद मैं कोचिंग जाने के बहाने घर से निकल जाता था.

जिस दिन मेरे भाई के बाहर रहने के कारण मेरी भाभी को चुदाई का मन होता था, तो वो मेरी माँ को किसी रिश्तेदार के घर चले जाने के लिए कहती थी।

हम दोनों अपने घर से निकल जाते और पीछे के रास्ते से घर वापस आ जाते. उसके बाद हम दोनों का चुदाई समारोह शुरू हो जाता.

कुछ समय बाद उनके घर में कुछ आर्थिक परेशानियां होने लगीं जिसके कारण भाभी अपना घर बेचकर अपने गांव चली गईं।

लेकिन अब भी वह मुझे बुलाती है और मैं उसके पास जाता हूं. उधर हम दोनों खूब चुदाई करते हैं.

दोस्तो, यह थी मेरी “जिंदगी की पहली चुदाई” की कहानी।
आशा है आपको सेक्सी पंजाबी भाभी को चोदा कहानी में आनंद आया होगा.

अगर आप ऐसी और कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “wildfantasy.in” की कहानियां पढ़ सकते हैं।

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds

Saale Copy Karega to DMCA Maar Dunga